स्थगित होंगी NEET, JEE Main की परीक्षा! उठाया अहम कदम, रखी ये मांग

देशभर में लाखों स्टूडेंट्स NEET और JEE Main की परीक्षाओं का इंतजार कर रहे हैं। लेकिन इस बीच एक बार फिर इन परीक्षाओं को स्थगित करने की मांग की जा रही है।

NEET And JEE Main Exams

NEET And JEE Main Exams

नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते खतरे को देखते हुए देश में NEET और JEE Main जैसे एंट्रेंस एग्जाम्स को दो बार स्थगित किया जा चुका है। दोनों परीक्षाओं का आयोजन सितंबर में किया जाना है। देशभर में लाखों स्टूडेंट्स NEET और JEE Main का इंतजार कर रहे हैं। लेकिन इस बीच एक बार फिर इन परीक्षाओं को स्थगित करने की मांग की जा रही है। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट में नीट और जेईई मेन की परीक्षाओं को स्थगित करने को लेकर याचिका दायर की गई है। याचिका में हालात सामान्य होने तक परीक्षाएं स्थगित करने की मांग की गई है।

यह भी पढ़ें: दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला: अब ऐसे कंट्रोल होगा पॉल्यूशन, लॉन्च हुई नई पॉलिसी

NTA के फैसले के खिलाफ दायर की गई है याचिका

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने एक नोटिस जारी कर NEET और JEE Main की परीक्षाओं को सितंबर महीने में आयोजित करने की बात कही थी। नोटिस के मुताबिक, JEE Main की परीक्षा एक से छह सितंबर तक आयोजित होगी। वहीं NEET परीक्षा 13 सितंबर को कराया जाना है। बता दें कि देश भर के करीब 20 लाख स्टूडेंट्स NEET और JEE Main की परीक्षाओं में हिस्सा ले रहे हैं।

यह भी पढ़ें: नई शिक्षा नीति पर दस बातेंः जानना है बहुत जरूरी, क्या है पीएम का लक्ष्य

NEET and JEE Main exam

11 शहरों के 11 छात्रों द्वारा दायर की गई याचिका

वहीं सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिका में नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के तीन जुलाई के नोटिस को खारिज करने की मांग की गई है। याचिका में कोरोना वायरस का हवाला देते हुए एनटीए के उस नोटिस, जिसमें NEET और JEE Main की परीक्षाएं सितंबर में आयोजित करने की बात कही गई है, को खारिज करने की बात कही गई है। सुप्रीम कोर्ट में ये याचिका 11 शहरों के 11 छात्रों द्वारा दायर की गई है। याचिका में हालात सामान्य हो जाने के बाद परीक्षाएं आयोजित करने की बात कही गई है।

यह भी पढ़ें: दहल उठा जम्मू: लगातार हो रही ताबड़तोड़ गोलाबारी, मोर्टारों से सहमे लोग

फैसले में इस बात को किया गया दरकिनार

सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिका में कहा गया है कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने सितंबर में परीक्षा आयोजित कराने का फैसला लेते समय इस बात को दरकिनार कर दिया है कि कुछ राज्यों की ओर से किसी भी तरह के पेशेवर और गैर पेशेवर एग्जाम को आयोजित करने में असमर्थता जाहिर की जा चुकी है। ऐसे में ये लाखों छात्रों की जान खतरा में डालने का मामला है।

यह भी पढ़ें: धमाकों से कांपी दुनिया: लाखों लोगों की मौत, हर तरफ नजर आई तबाही

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App