मिलेगी 10 हजार पेंशन: मोदी सरकार की इस बड़ी योजना के लिए जल्द करें आवेदन

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा लोगों के लाभ के लिए कई योजनाएं लागू की गई हैं। ऐसे ही एक योजना है प्रधानमंत्री व्यय वंदना योजना’। यह योजना ऐसे लोगों के लिए है जो रिटायमेंट के बाद भी अपने आपको आत्मनिर्भर रखना चाहते हैं।

नई दिल्ली: केंद्र की मोदी सरकार द्वारा लोगों के लाभ के लिए कई योजनाएं लागू की गई हैं। ऐसे ही एक योजना है प्रधानमंत्री व्यय वंदना योजना’। यह योजना ऐसे लोगों के लिए है जो रिटायमेंट के बाद भी अपने आपको आत्मनिर्भर रखना चाहते हैं।

इस योजना के तहत सेवानिवृत्त कर्मचारी व अधिकारी अपनी जरूरतों के लिए किसी के भी आगे हाथ फ़ैलाने की जरूरत न पड़ेगी, तो आइए हम आपको इस योजना के बारे में बताते हैं।

ये भी पढ़ें:2020 का ISRO का पहला मिशन, 17 जनवरी को हो रहा है ये संचार उपग्रह लॉन्च

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना आपको 8-8.30 फीसदी तक का ब्याज भी मिलता है। हालांकि, यह ब्याज इस बात पर भी निर्भर करता है कि, आप मासिका, तिमाही, छमाही या सालाना पेंशन के कौन से विकल्प को चुनते हैं। अगर आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो आपके पास केवल 31 मार्च 2020 तक यानी तीन महीने से भी कम का समय बचा है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए आपको कई कार्य करने होगें। तो चलिए आपको बताते हैं इस योजना के बारे में और जानकारी..

2000

LIC के जरिए ले सकते हैं इस स्कीम का लाभ

वित्त वर्ष 2018-19 के लिए बजट के दौरान केंद्र सरकार ने वरिष्ठ नागरिकों के लिए इस योजना की अंतिम तारीख को बढ़ाकर 31 मार्च 2020 कर दिया गया हैं। इसीलिए सरकार ने अधिकतम सीमा को भी बढ़ाकर 15 लाख कर दिया है, अगर आप इस योजना का लाभ उठाना चाह रहे हैं तो ‘भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) के जरिए ले सकते हैं। इस योजना का लाभ आप ऑनलाइन और ऑफलाइन भी ले सकते हैं।

यहां जानें इस योजना के फायदों के बारे में

इस योजना की अवधि 10 साल के लिए है, अगर आप 10 साल पूरा होने के बाद भी इस स्कीम का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको दोबारा इस स्कीम को ले सकते हैं। अगर पेंशनधारक इस स्कीम के 10 साल तक जीवित रहता है तो, जो भी पेंशन अवधि चुना गया है, उसके अंत में एरियर जारी किया जाएगा।

ये भी पढ़ें:सावधान! कैंसिल हैं 304 ट्रेनें, कहीं जाने से पहले देखें पूरी लिस्ट

अगर इस स्कीम की अवधि पूरा होने से पहले ही पेंशनधारक की मौत हो जाती है तो लाभार्थी को खरीद की रकम वापस कर दी जाएगी। वहीं, इस पॉलिसी टर्म को पूरा होने के बाद तक पेंशनधारक जीवित रहता है तो इसके लिए उन्हें इस पॉलिसी की खरीद रकम के साथ अंतिम पेंशन इन्सटॉलमेंट भी दिया जाएगा। केंद्र सरकार की इस योजना का लाभ 60 साल से जो अधिक उम्र के है वो भी इस योजना का लाभ ले सकते हैं क्योंकि इस योजना की कोई भी उम्र सीमा नहीं है।

मिलती है 10 हजार रुपये की पेंशन, जानें कैसे

इस स्कीम के हिसाब से अगर आप मासिक पेंशन पाना चाहते हैं तो हर माह आपको कम से कम 1 हजार रुपये की पेंशन मिलेगी। ये पेंशन इस बात पर निर्भर करता है कि, आप कितनी अवधि पर पेंशन प्राप्त करना चाहते हैं। वहीं, इस स्कीम के तहत अधिकतम मासिक पेंशन 10,000 रुपये है। इस योजना का लाभ कितने रुपये तक उठा सकते है।

ये भी पढ़ें:आर्थिक मंदी का असर, इतने लाख लोगों को नहीं मिलेगा रोजगार, जानिए कैसे

मासिक पेंशन पाने के लिए आपको इस स्कीम को खरीदने के लिए कम से कम 1.50 लाख रुपये खर्च करना होगा। साथ ही 10 हजार रुपये प्रति माह का पेंशन पाने के लिए आपको इस स्कीम को खरीदने के लिए 15 लाख रुपये खर्च करने होंगे, तभी आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।