पब्जी का दीवाना पोता: दादा के साथ खेल गया गंदा खेल, किया ये कारनामा…

एक 15 साल के पोते ने अपने दादा के पेंशन अकाउंट का गलत इस्तेमाल इस गेम को खेलने के लिए किया।  इस पोते ने दादा के पेंशन अकाउंट से 2 लाख रुपये से अधिक रकम को निकालकर गेम खेलने में उड़ा दिया।

Published by suman Published: September 11, 2020 | 7:26 pm
pubg

PUBG खेलने के चक्कर में 15 साल के पोते सोशल मीडिया से

नई दिल्ली : आजकल अधिकतर बच्चों को मोबाइल पर गेम खेलना बहुत अच्छा लगता है। खासकर पब्जी का दीवाना हर बच्चा हो रहा है। इन ऑनलाइन गेम को बच्चे खेलने के आदी ऐसे हो जाते है कि  उनके लिए उसकी लत छोड़ना आसान नहीं होता और बात पब्जी की करें तो ये गेम ज्यादा ही चर्चा में रहता हैं।

 

यह पढ़ें…IAS पिता के कार्यकाल में नौकरी की सीढ़ियां चढ़ते गए डॉ मनोज यादव, अब योगी के मंत्री की आंख के तारे

दादा के अकाउंट का गेम के लिए गलत इस्तेमाल

हाल ही में मोबाइल गेम ऐप पब्जी (PUBG  ) को बैन करने की खबर थी इसके जरिए बच्चों को काफी खराब लत लग गई थी। कई बार उनकी यह लत घर वालों के लिए भी परेशानी बन जाती है। ऐसी ही एक घटना सामने आई है।  पब्जी के बैन होने के बाद  खबर है कि एक 15 साल के पोते ने अपने दादा के पेंशन अकाउंट का गलत इस्तेमाल इस गेम को खेलने के लिए किया।  इस पोते ने दादा के पेंशन अकाउंट से 2 लाख रुपये से अधिक रकम को निकालकर गेम खेलने में उड़ा दिया।

रैंक हासिल करने के लिए किया अकाउंट खाली

जांच से पता चला कि 7 मार्च से 8 मई के बीच गेमर ने PUBG मोबाइल में इस्तेमाल करने के लिए अपने दादा के खाते से पेटीएम में पैसे ट्रांसफर किए। उन्होंने अपने दादाजी के डेबिट कार्ड का उपयोग करके पेटीएम को रिचार्ज किया और इस खेल में भुगतान किया। रिपोर्ट के अनुसार, गेमर ने ऑनलाइन बैटल रॉयल गेम पर 2,34,497 रुपये खर्च किए। दादा को पूरी घटना के बारे में तब पता चला जब उनका खाता खाली हो गया और उनके बैंक खाते में केवल 275 रुपये रह गए।

मामला मई में आया था सामने

मोबाइल फोन पर एक मैसेज मिलने के बाद मामले का खुलासा हुआ। मोबाइल पर आए मैसेज के मुताबिक शिकायतकर्ता के अकाउंट से 2,500 रुपये डेबिट किए गए थे, जिसके बाद उनके पास 275 रुपये बचे हुए थे। उन्होंने बैंक से संपर्क किया, तो पता चला कि  उनके पेंशन अकाउंट से 2.34 लाख रुपये ट्रांसफर किए गए हैं। पुलिस की जांच के मुताबिक,  पोते ने अपने दादा के अकाउंट से पैसे 7 मार्च से 8 मई के बीच खर्च किए हैं।

वैसे यह मामला मई में सामने आया था जब उस व्यक्ति ने  तिमारपुर पुलिस थाने में एक शिकायत दर्ज की थी और बाद में इसे उत्तरी जिले के साइबर सेल में ट्रांसफर कर दिया गया था, जिसके जरिए यह पाया गया कि सरकार द्वारा पिछले हफ्ते बैन किए गए पब्जी मोबाइल (PUBG Mobile) गेम के लिए इन पैसों को  पेटीएम  पर ट्रांसफर किया गया था।

यह पढ़ें…पॉजिटिव हैं कंगना: मुश्किल वक्त में भी डट कर खड़ी, childhood तस्वीर की शेयर

ओटीपी का मैसेज डिलीट

साइबर सेल ने जब आरोपों के घेरे में आए पोते को पकड़कर पूछताछ की तो उसने अपराध स्वीकार कर लिया। उसने यह भी बताया कि पैसे ट्रांसफर करने के बाद वह ओटीपी का मैसेज डिलीट कर देता था, जिससे पैसे निकाले जाने की जानकारी किसी को न लगे और यह बैंक खाता हैक किए जाने का मामला लगे। पुलिस ने युवक के खिलाफ कोई कानूनी एक्शन नहीं लिया है। सच जानने के बाद दादा ने शिकायत वापस ले ली थी।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App