दुनिया को वैक्सीन झटका: आग से दहक उठा पुणे सीरम इंस्टीट्यूट, कैसे लगेगा टीका

पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) जहां कोरोना वायरस के खिलाफ चार और वैक्सीन पर काम चल रहा है, वहां की इमारत में भीषण आग लग गई है। जिससे चारों तरफ अफरा-तफरी मच गई है। ऐसे में दमकल की 8 गाडियाँ वहाँ तत्काल पहुंच चुकी है, जो आग को काबू करने में जुटी हुईं हैं।

Published by Vidushi Mishra Published: January 21, 2021 | 3:35 pm
serum

फोटो-सोशल मीडिया

नई दिल्ली। देश के बहुत बुरी खबर मिली रही है। पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) जहां कोरोना वायरस के खिलाफ चार और वैक्सीन पर काम कर रहा है, वहां की इमारत में आग लग गई। जिससे चारों तरफ अफरा-तफरी मच गई है। ऐसे में दमकल की 8 गाडियाँ वहाँ तत्काल पहुंच चुकी है, जो आग को काबू करने में जुटी हुईं हैं। बताया जा रहा कि नई बिल्डिंग में आग लगी है। आग लागने का अभी खुलासा नहीं हो पाया है। फिलहाल इमारत आग से बहुत भयानक तरह से देहक रही है लेकिन अभी तक किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं मिली है। बताया जा रहा है कि कोरोना की चार वैक्सीन पर काम अभी भी चल रहा था।

ये भी पढ़ें…वैक्सीन पर बड़ी खबर: सरकार ने तो दिलाया भरोसा, लेकिन संशय है बरकरार

पूरे देश को उम्मीदें

पुणे में कोरोना वैक्सीन बनाने वाले इंस्टीट्यूट की इमारत आग लगने से देश को बड़ा झटका लगा है। आग से दहक उठे सीरम इंस्टीट्यूट को लेकर पूरे देश को उम्मीदें थी। ऐसे में सभी के लिए ये काफी बुरी खबर है।

FIRE
फोटो-सोशल मीडिया

हालाकिं मौके पर दमकल की 7 से 8 गाड़ियां मौजूद है और आग बुझाने की कोशिश की जा रही है। लेकिन अभी आग पर काबू नहीं पाया जा सका है। आग लगने का कारण और टर्मिनल में कितने लोग फंसे हैं, इस बारे में भी जानकारी सामने नहीं आई है। इमारम में दूर से ही प्लांट के ऊपर धुएं का काला गुबार दिखाई दे रहा है। वहीं पांच मंजिला इस प्लांट में कोविशिल्ड का प्रोडक्शन कुछ दिन में शुरू होने वाला है।

ये भी पढ़ें…वैक्सीन पर बड़ी खबर: सरकार ने तो दिलाया भरोसा, लेकिन संशय है बरकरार

कोरोना वायरस के पांच टीके पर काम

इससे पहले सीरम इंस्टीट्यूट के कार्यकारी निदेशक सुरेश जाधव ने यह जानकारी दी थी कि कंपनी कोविशील्ड समेत कोरोना वायरस के पांच टीके पर काम कर रही है। कोविशील्ड के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी है और टीकाकरण अभियान में यह वैक्सीन लगाई भी जा रही है। तीन वैक्सीन क्लीनिकल अध्ययन की विभिन्न चरणों में हैं, जबकि एक वैक्सीन अभी ट्रायल के प्री-क्लीनिकल चरण में है।

बता दें, पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ने अमेरिकी दवा कंपनी नोवावैक्स इंक के साथ भारत और अन्य देशों के लिए उसकी संभावित कोरोना वैक्सीन तैयार करने का करार किया है। करार के मुताबिक, सीरम इंस्टीट्यूट हर साल नोवावैक्स की दो अरब डोज तैयार करेगा। सीरम ने अमेरिका कंपनी कोडाजेनिक्स के साथ भी उसकी कोरोना वैक्सीन का उत्पादन और वितरण करने का करार किया है।

ये भी पढ़ें…कोरोना वैक्सीनः आज भूटान भेजी जाएगी कोविशील्ड की 1.5 लाख डोज

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App