×

राधा स्वामी में बना देश का सबसे बड़ा कोविड सेंटर, साथ पहुंचे शाह और केजरीवाल

पिछले काफी समय से दिल्ली में कोरोना के हालात को लेकर गृह मंत्री अमित शाह सजग हैं और लगातार बैठकें कर रहे हैं। बैठक साथ अस्पतालों और उन जगहों का भी दौरा कर रहे हैं।  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने आज यानि शनिवार को छतरपुर क्षेत्र में स्थित राधा स्वामी ब्यास में कोविड केयर सेंटर पहुंचकर निरीक्षण किया।

suman
Updated on: 27 Jun 2020 1:18 PM GMT
राधा स्वामी में बना देश का सबसे बड़ा कोविड सेंटर, साथ पहुंचे शाह और केजरीवाल
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली पिछले काफी समय से दिल्ली में कोरोना के हालात को लेकर गृह मंत्री अमित शाह सजग हैं और लगातार बैठकें कर रहे हैं। बैठक साथ अस्पतालों और उन जगहों का भी दौरा कर रहे हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने आज यानि शनिवार को छतरपुर क्षेत्र में स्थित राधा स्वामी ब्यास में कोविड केयर सेंटर पहुंचकर निरीक्षण किया। अब कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए दिल्ली के राधास्वामी व्यास छतरपुर में 10,000 से ज्यादा बेड वाले कोविड केयर सेंटर को शुरू किया गया है।

यह पढ़ें...सोनिया पर फायर हुए नड्डा, राजीव फाउंडेशन को लेकर घेरने की कोशिश



आप नेता का केंद्र पर आरोप

सीएम से दौरे से पहले आप नेता संजय सिंह ने केंद्र सरकार पर हमला किया था। आप नेता ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए ट्वीट किया था कि दिल्ली सरकार द्वारा बनाए गए दुनिया के सबसे बड़े कोविड अस्पताल का गृह मंत्री अमित शाह 'चोरी-चोरी, चुपके-चुपके' उद्घाटन करने आ रहे हैं। भाजपा कोरोना से लड़ रही है या फिर अरविंद केजरीवाल से?'

आइटीबीपी टीम ने लिया दायित्व

अब दिल्ली के राधास्वामी व्यास छतरपुर में भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आइटीबीपी) की टीम ने 10,000 से भी ज्यादा बिस्तरों वाले प्रस्तावित कोविड केयर सेंटर की जिम्मेदारी संभाली है।

यह पढ़ें...हाई-अलर्ट जारी: बड़ी घटना को अंजाम देने का प्लान, चप्पे-चप्पे पर तैनात सेना

अधिकतम क्षमता 10, 200 बेड

ऐसा दावा है कि यह सबसे बड़ा कोविड सेंटर है। 26 जून से लगभग 2000 बेड की क्षमता वाला सेंटर काम कर रहा है। धीरे-धीरे इसकी संख्या में कोविड मरीजों के अनुसार बढ़ोतरी की जाएगी। इसकी अधिकतम क्षमता 10, 200 बेड तक की जा सकती है। जिसमें लगभग 1,000 से भी ज्यादा डॉक्टरों के शामिल होने की संभावना है।

बता दें कि दिल्ली में आए दिन कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। स्थिति नियंत्रण से बाहर है। केंद्र और राज्य सरकारें इसको लेकर कोशिशें जारी रखी हैं।

suman

suman

Next Story