×

एयर स्ट्राइक पर सबूत मांग फंसे राहुल, दिग्विजय और सिद्धू, वाराणसी में परिवाद दर्ज

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद जिस तरह भारतीय सेना ने अपने शौर्य का परिचय दिखाते हुए पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक कर जैश के आतंकी ठिकानों को तबाह किया। इस पर जहां पूरे देश मे शहीदों की शहादत के बदले की इस करवाई पर जश्न मनाया गया तो दूसरी तरफ विपक्ष के कई नेता इस करवाई पर सरकार से यह सबूत मांग रहे हैं कि आखिर इस करवाई में कितने आतंकी मारे गए?

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 6 March 2019 10:27 AM GMT

एयर स्ट्राइक पर सबूत मांग फंसे राहुल, दिग्विजय और सिद्धू, वाराणसी में परिवाद दर्ज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

वाराणसी: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद जिस तरह भारतीय सेना ने अपने शौर्य का परिचय दिखाते हुए पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक कर जैश के आतंकी ठिकानों को तबाह किया। इस पर जहां पूरे देश मे शहीदों की शहादत के बदले की इस करवाई पर जश्न मनाया गया तो दूसरी तरफ विपक्ष के कई नेता इस करवाई पर सरकार से यह सबूत मांग रहे हैं कि आखिर इस करवाई में कितने आतंकी मारे गए? इसका अब विरोध भी शुरू हो गया है।

यह भी पढ़ें.....आजम खान के उर्दू गेट पर चला बुलडोजर, सार्वजनिक रोड पर जबरन कब्जे का आरोप

इसी कड़ी में पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ राष्ट्रदोह के तहत एसीजीएम 6 की अदालत में मुकदमा पंजीकृत करने के लिए परिवाद दाखिल किया गया।

राष्ट्रद्रोह के तहत परिवाद दाखिल

परिवाद दाखिल करने वाले अधिवक्ता कमलेश चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि हमने कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने के लिए एसीजीएम 6 की अदालत में राष्ट्रदोह के तहत परिवाद दाखिल किया है।

यह भी पढ़ें.....फिल्म ‘जंगली’ का ट्रेलर हुआ रिलीज, नए अंदाज में दिखेंगे एक्शन मैन विद्युत जामवाल

अधिवक्ता ने बताया कि भारतीय वायु सेना ने जिस तरह पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक कर जैश के आतंकी ठिकानों ध्वस्त किया और एक बड़ी कार्रवाई की है जो पुख्ता सबूत और खुफिया सूचना पर आधारित थी उसको नकारा जा रहा है और उस एयर स्ट्राइक पर सबूत मांगा जा रहा है। इस तरह के बयान बाजी से सेना का मनोबल टूटता है और देश की अखंडता, सुरक्षा, संरक्षता प्रभावित होती है।

यह भी पढ़ें.....अखरोट समझ कर खाया जेट्रोफा, नौ बच्चे बीमार-जिला अस्पताल पहुंचाकर भर्ती कराया

इन धाराओं में दर्ज हुआ मुकदमा

राष्ट्रदोह के तहत आने वाली धारा 505 ए, 124 ए और धारा 511 के तहत परिवाद दाखिल किया गया है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story