BJP व शिवसेना की राहें अलग, फिर भी दोनों राहुल के खिलाफ दिखे साथ, जानिए क्यों?

दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस नेता राहुल गांधी के सावरकर पर दिए बयान के बाद बीजेपी व शिवसेना ने मोर्चा खोल दिया है। कांग्रेस की भारत बचाओ रैली में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। साथ ही रेप इन इंडिया वाले बयान पर कहा कि मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं, राहुल गांधी है।

नई दिल्ली:  दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस नेता राहुल गांधी के सावरकर पर दिए बयान के बाद बीजेपी व शिवसेना ने मोर्चा खोल दिया है। कांग्रेस की भारत बचाओ रैली में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। साथ ही रेप इन इंडिया वाले बयान पर कहा कि मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं, राहुल गांधी है। सच्चाई के लिए कभी माफी नहीं मांगूंगा। वहीं सावरकर का नाम लेकर दिए बयान पर अब शिवसेना ने प्रतिक्रिया दी है।

शिवसेना को नहीं पसंद आया राहुल का बयान

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि सावरकर सिर्फ महाराष्ट्र के नहीं, बल्कि पूरे देश के है। सावरकर का सम्मान होना चाहिए। उन्होंने कहा-वीर सावरकर पूरे देश के लिए भगवान की तरह हैं, महाराष्ट्र के लिए नहीं। सावरकर के नाम पर आत्मसम्मान है, साथ ही देश को भी गर्व है। नेहरू और गांधी की तरह सावरकर ने भी अपना पूरा जीवन देश के लिए समर्पित किया। हमें ऐसे हर भगवान जैसे लोगों का आदर करना चाहिए।

यह पढ़ें….अच्छी खबर अब घरों में लगेंगे उच्च तकनीकी के ही बिजली स्मार्ट मीटर

बीजेपी को भी नहीं पसंद आया राहुल का बयान

इधर राहुल गांधी के बयान पर पलटवार करते हुए बीजेपी नेता संबित पात्रा ने कहा है कि राहुल गांधी 1000 जन्म भी लेंगे तो वीर सावरकर की बराबरी नहीं कर सकते। साथ ही महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने भी  राहुल गांधी पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ओर से दिया गया बयान पूरी तरह से निंदनीय है। राहुल गांधी सावरकर के नाखून के बराबर भी नहीं हैं और खुद को ‘गांधी’ समझने की गलती उन्हें नहीं करनी चाहिए

देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि केवल आखिरी नाम गांधी होने से कोई महात्मा गांधी नहीं बन जाता है। सावरकर ने अपनी जीवन की आहुति मातृभूमि के लिए दी। सब कुछ त्याग किया। उनके खिलाफ ऐसी भाषा का इस्तेमाल करना, देश के लिए सब कुछ त्याग करने वाले तमाम देशभक्तों का अपमान है. इसके लिए राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए। इससे पहले विवादित बयानों के चलते चर्चा में रहने वाले केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा था। गिरिराज सिंह ने कहा था कि राहुल गांधी ने विश्व के आगे भारत को बदनाम किया है। भारत के लिए पाकिस्तान और राहुल गांधी की बातों में कोई अंतर नहीं है।

यह पढ़ें….दिल्ली फिर आग की चपेट में: 3 महिलाएं जिंदा जली, बहुमंजिला इमारत में लगी आग

राहुल गांधी का बयान

राहुल गांधी ने यहां रामलीला मैदान में कहा कि  संसद में भाजपा के लोगों ने कहा कि आप अपने भाषण के लिए माफी मांगिए, लेकिन मैं आपको बता दूं कि मेरा नाम ‘राहुल सावरकर’ नहीं है, मेरा नाम ‘राहुल गांधी’ है। मर जाऊंगा, मगर माफी नहीं मांगूंगा। सच बोलने के लिए मैं माफी नहीं मांगूंग। बीजेपी के माफी मांगने वाले सवाल पर पलटवार करते हुए उन्होंने कहा कि उनका नाम ‘राहुल सावरकर’ नहीं हैं और वह कभी माफी नहीं मांगने वाले हैं। उन्होंने ‘भारत बचाओ रैली’ में कहा, ‘कांग्रेस का कार्यकर्ता किसी से नहीं डरता और देश के लिए जान देने के लिए तैयार रहता है। भले ही शिवसेना और बीजेपी की राहें अब अलग है लेकिन सावरकर पर राहुल गांधी का बयान शिवसेना  और बीजेपी दोनों को भी रास नहीं आया।