बारिश से मचेगा कहर: यहां पलटा मौसम, इन इलाकों में जबरदस्त बरसात

तेजी से बदल रहे मौसम की जानकारी देते हुए मौसम विभाग ने शुक्रवार को बताया कि तटीय कर्नाटक, कोंकण और गोवा में भारी बारिश होगी। अपने पूर्वानुमान में यह भी बताया है कि दक्षिण मध्‍य महाराष्‍ट्र, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में भी भारी बारिश होगी। 

बारिश से मचेगा कहर: यहां पलटा मौसम, इन इलाकों में जबरदस्त बरसात

नई दिल्‍ली : बिना मौसम बारिश होने के बन रहे है आसार, भारतीय मौसम विभाग ने कई राज्योें को लेकर यह जानकारी दी है। तेजी से बदल रहे मौसम की जानकारी देते हुए मौसम विभाग ने शुक्रवार को बताया कि तटीय कर्नाटक, कोंकण और गोवा में भारी बारिश होगी। अपने पूर्वानुमान में यह भी बताया है कि दक्षिण मध्‍य महाराष्‍ट्र, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में भी भारी बारिश होगी। मानसून की विदाई के बावजूद भी बादल कम होने का नाम ही नही ले रहें हैं।

यह भी देखें… सावधान: ये खतरनाक गैंगस्टर जेल से फरार, देश-विदेश में इसके चर्चे

इन इलाकों में जारी अलर्ट

इसके साथ ही जम्‍मू कश्‍मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्‍तराखंड, पंजाब, उत्‍तरी हरियाणा और चंडीगढ़ में बादल की गरज और बिजली चमकने की भी संभावना जताई है। पूर्व-केंद्रीय अरब सागर और इससे सटे कर्नाटक व दक्षिण कोंकण तट पर भी तेज हवाएं चलने की संभावना जताई है, जिसकी स्‍पीड 45-55 किमी तक हो सकती है।

तटीय क्षेत्रों के बदलते मौसम को देखते हुए इन इलाकों में मछुआरों के लिए भी अलर्ट जारी किया गया है। इसी के चलते उन्‍हें कुछ दिनों के लिए तट से दूरी बनाए रखने की सलाह दी गई है। हालांकि मौसम की वजह से मछुआरों की दैनिक आमदनी में भी प्रभाव पड़ेगा, जिसे लेकर मछुआरें चिंता में है।

यह भी देखें… गृह मंत्रालय ने CRPF को राशन मनी अलाउंस देने पर जताई सहमति

इसके साथ ये भी गंभीर समस्या

भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक, दक्षिण पूर्व अरब सागर और इससे सटे लक्षद्वीप एरिया में कम दबाव वाला क्षेत्र बना रहेगा। इसी के साथ दिल्ली में हवा एक बड़ी परेशानी का रूप धारण करती जा रही है। दिल्ली की हवा जहरीली हो चुकी है। गुरुवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स 300 पार पहुंच गया है। इस स्तर को बेहद खराब माना जाता है।

बारिश से मचेगा कहर: यहां पलटा मौसम, इन इलाकों में जबरदस्त बरसात

दिल्ली में प्रदूषण सांस के मरीजों और खासकर पांच साल से कम उम्र के बच्चों के लिए हानिकारक साबित हो रहा है। एम्‍स के डॉक्‍टरों ने चेतावनी दी है। उनके मुताबिक प्रदूषण बढ़ने पर आंखों में जलन व एलर्जी की समस्या शुरू हो जाती है। ऐसे में आंखों को मसलने से परेशानी बढ़ सकती है। बच्चों की आंखों की कॉर्निया कमजोर होती है।

डॉक्‍टरों के मुताबिक आंखों को मसलने से कॉर्निया प्रभावित हो सकती है और क्रेटोकोनस नामक बीमारी हो सकती है। इस कारण आंखों की रोशनी प्रभावित हो सकती है।

यह भी देखें… जम्मू-कश्मीर: सरकार ने 62 साल पुरानी विधान परिषद को खत्म करने का लिया फैसला