राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष का निधन, PM मोदी और CM योगी ने जताया दुख

राजस्‍थान के बीजेपी प्रदेश अध्‍यक्ष मदनलाल सैनी का सोमवार को निधन हो गया। वे कई दिनों से बीमार थे और दिल्‍ली के एम्‍स में उनका इलाज चल रहा था। मदलनान सैनी राज्यसभा सदस्य भी थे। राज्यसभा सांसद मदन लाल सैनी के निधन के चलते राज्यसभा की कल की कार्यवाही स्थगित रहेगी।

नई दिल्ली: राजस्‍थान के बीजेपी प्रदेश अध्‍यक्ष मदनलाल सैनी का सोमवार को निधन हो गया। वे कई दिनों से बीमार थे और दिल्‍ली के एम्‍स में उनका इलाज चल रहा था। मदलनान सैनी राज्यसभा सदस्य भी थे। राज्यसभा सांसद मदन लाल सैनी के निधन के चलते राज्यसभा की कल की कार्यवाही स्थगित रहेगी।

मदन लाल (75) सैनी की खराब सेहत के चलते राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भी हाल ही में उनसे मिलने पहुंची थी। सैनी के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक प्रकट किया।

गृह मंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट कर दुख जताया है।

यह भी पढ़ें…पायल तडवी केस: तीनों आरोपियों की जमानत याचिका मुंबई कोर्ट से खारिज

सीएम योगी ने भी सैनी के निधन पर दुख जताया है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर सैनी के निधन दुख जताया है। उन्होंने लिखा है “बीजेपी राजस्थान के अध्यक्ष मदन लाल सैनी जी के निधन के बारे में सुनकर हैरान और दुखी हूं। मेरी प्रार्थना उनके परिवार के सदस्यों के साथ हैं। आत्मा को शांति मिले। ”

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी सैनी के निधन पर शोक जताया।

यह भी पढ़ें…जानिए क्यों ! मेट्रोमैन ई श्रीधरन ने पद से दिया इस्तीफा, वजह बेहद खास है

वहीं मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी सैनी के निधन पर शोक जताया।

बता दें कि मदन लाल सैनी को पिछले साल जून में ही राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष के रूप में चुना गया था। उस वक्त वसुंधरा राजे के करीबी माने जाने वाले अशोक परणामी ने पार्टी प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था।

सैनी का जन्म 13 जुलाई, 1943 को हुआ था। सीकर जिले के रहने वाले करीब 76 वर्षीय सैनी राजनीति में आने से पहले भारतीय मजूदर संघ (भामस) से लंबे समय तक जुड़े रहे थे। सैनी ने राजनीति के लिए सीकर मुख्यालय से सटे माली बहुल झुंझुनूं के उदयपुवाटी विधानसभा (पूर्व में गुढ़ा) को चुना था।

यह भी पढ़ें…रायबरेली में रेल कोच फैक्ट्री को प्राइवेट सेक्टर में देने के फैसले का विरोध

सैनी ने वर्ष 1990 में अपना पहला चुनाव उदयपुरवाटी विधानसभा क्षेत्र से लड़ा था। इसमें वह जीत कर विधानसभा पहुंचने में सफल रहे थे। उसके बाद वह संगठन में भी सक्रिय हुए और 1991 में एक साल के लिए बीजेपी के झुंझुनूं जिलाध्यक्ष भी रहे। वहीं से संगठन में पदोन्नत होकर प्रदेश मंत्री बने।

मदनलाल सैनी अपनी सादगी के लिए जाने जाते थे। प्रदेश अध्यक्ष बनने से पहले वह नियमित रूप से बस से सीकर से जयपुर आते थे। फिर पैदल ही बीजेपी दफ्तर जाते थे।उनकी कार्यशैली और सादगी से प्रभावित होकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनको 2018 में राज्यसभा भिजवाया। सैनी ने दो बार लोकसभा चुनाव भी लड़े थे, लेकिन हार गए।

जब राजस्‍थान बीजेपी में प्रदेश अध्यक्ष को लेकर भारी जोर-आजमाईश चल रही थी, तब अमित शाह ने सैनी को राजस्थान बीजेपी की कमान सौंपी थी। सैनी की अगुवाई में बीजेपी ने लोकसभा में राज्य की सभी 25 सीटें जीतीं।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App