Top

राजस्थान में पुजारी को जिंदा जलाने पर सियासत गरमाई, BJP ने CM से मांगा इस्तीफा

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का कहना है कि घटना के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और पुलिस मामले में कार्रवाई करने में जुटी हुई है। इस मामले में किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

Suman  Mishra | Astrologer

Suman  Mishra | AstrologerBy Suman Mishra | Astrologer

Published on 9 Oct 2020 2:47 PM GMT

राजस्थान में पुजारी को जिंदा जलाने पर सियासत गरमाई, BJP ने CM से मांगा इस्तीफा
X
एक पुजारी को जिंदा जलाने की घटना पर सियासत गरमा
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली राजस्थान के करौली जिले में जमीन पर कब्जा करने की नीयत से एक पुजारी को जिंदा जलाने की घटना पर सियासत गरमा गई है। भाजपा ने इस मामले को लेकर राजस्थान की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए गहलोत सरकार पर निशाना साधा है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इस घटना को लेकर राजस्थान सरकार पर हमला बोला है और कांग्रेस नेता राहुल गांधी से राजस्थान सरकार से इस्तीफा मांगने को कहा है।

उधर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का कहना है कि घटना के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और पुलिस मामले में कार्रवाई करने में जुटी हुई है। इस मामले में किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

कब्जे का विरोध करने पर जिंदा जलाया

करौली जिले के सपोटरा थाना इलाके के बूकना गांव में पुजारी को जिंदा जलाने की यह घटना हुई है। गांव के राधा गोपाल मंदिर में पूजा-अर्चना करने वाले पुजारी बाबूलाल वैष्णव की गुरुवार को जयपुर के एक अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।पुलिस के मुताबिक पीड़ित ने मौत से पहले बयान दिया था कि मुख्य आरोपी कैलाश मीणा अपने साथियों शंकर, नमो, किशन और रामलखन के साथ मंदिर के बाड़े पर कब्जा करके छप्पर लगा रहा था। पुजारी के विरोध करने पर आरोपियों ने पेट्रोल डालकर आग लगा दी।

यह पढ़ें...UPSC Exam: बनाये गए 43 परीक्षा केन्द्र, 19485 परीक्षार्थी होंगे शामिल

घटना के विरोध में प्रदर्शन

यह पुजारी मंदिर की 15 बीघा जमीन पर खेती कर अपना गुजर-बसर करता था। घटना की जानकारी मिलने के बाद कई संगठनों से जुड़े लोग अस्पताल की मोर्चरी पर पहुंच गए और उन्होंने प्रदर्शन शुरू कर दिया। प्रदर्शनकारी मृतक के परिवार को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे।

RAJSTHAN सोशल मीडिया से फोटो

राहुल मांगें गहलोत से इस्तीफा

भाजपा ने इस घटना को लेकर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि करौली में गुंडों ने एक पुजारी को जिंदा जला दिया। प्रदेश के विभिन्न इलाकों में दुष्कर्म की घटनाएं हो रही हैं। ऐसी स्थिति में कांग्रेस नेता राहुल गांधी को राजनीतिक दौरे करने की बजाय इन मुद्दों पर ध्यान देना चाहिए। वे या तो राजस्थान सरकार से इस्तीफा मांगें या वहां के हालात सुधारने की कोशिश करें। जावड़ेकर ने इस मामले में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की।

वसुंधरा ने गहलोत सरकार को घेरा

राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा‌ कि पुजारी को जिंदा जलाकर मार डालने की इस घटना की जितनी भी निंदा की जाए, वह कम है। उन्होंने कहा कि राजस्थान में जिस तरह अपराध का ग्राफ बढ़ रहा है, उससे साफ है कि राज्य में महिलाएं, बच्चे, बूढ़े, दलित और व्यापारी कोई भी सुरक्षित नहीं है। उन्होंने कहा कि गहलोत सरकार को अब अपनी गहरी नींद से जग जाना चाहिए और दोषियों को सख्त सजा दिलाकर पीड़ित परिवार के साथ न्याय करना चाहिए।

यह पढ़ें...वैष्णो देवी पर बड़ी खबर: यात्रा पर जाना होगा आसान, शुरू होने जा रही ये एक्सप्रेस

आखिर कब टूटेगी गहलोत की नींद

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने भी इस मामले को उठाते हुए गहलोत सरकार पर हमला बोला है। उनका कहना है कि प्रदेश में अपराधों का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है और सरकार कानून व्यवस्था के मोर्चे पर नाकाम साबित हो रही है। उन्होंने पुजारी को जिंदा जलाने की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि सच्चाई तो यह है कि राज्य में अपराधियों में कानून का कोई भय नहीं रह गया है। प्रदेश की जनता डरी हुई है और ऐसे में गहलोत जी की नींद आखिर कब टूटेगी।

गहलोत बोले-किसी भी दोषी को नहीं बख्शेंगे

उधर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाजपा के आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि यह घटना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण एवं निंदनीय है। सभ्य समाज में ऐसी घटनाओं के लिए कोई जगह नहीं है। प्रदेश सरकार इस दुखद घड़ी में शोकाकुल परिवार के साथ है। उन्होंने कहा कि घटना के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है एवं अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। इस मामले में किसी भी दोषी को नहीं बख्शा जाएगा।

अंशुमान तिवारी

Suman  Mishra | Astrologer

Suman Mishra | Astrologer

Next Story