पुजारी की हत्या: हाथ-पैर बंधा मिला शव, राजस्थान में मचा हड़कंप

राकड़ी क्षेत्र में मेहराओं का बेहद प्राचीन मंदिर है। मंदिर में रहने वाले गिर्राज मेहरा बीते करीब 15 सालों से मंदिर की देखभाल कर रहे थे। देर रात किसी शख्स ने पुजारी के हाथ-पैर और मुंह बांधकर बुरी तरह मारपीट कर हत्या कर दी।

Published by Shreya Published: January 27, 2021 | 7:10 pm
murder

जयपुर में पुजारी की हत्या, मामले की जांच में जुटी पुलिस (सांकेतिक फोटो- सोशल मीडिया)

जयपुर: पुजारियों की हत्या का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। एक बार फिर से पुजारी की सनसनीखेज हत्या का मामला सामने आया है। यह मामला राजस्थान की राजधानी जयपुर से सामने आया है। जहां पर मेहरओ के मंदिर में पुजारी का हाथ पैर बंधा हुआ शव बरामद हुआ है। जिससे इलाके में हड़कंप मच गया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और मामले की जांच शुरू कर दी है। पूरी घटना जयपुर के सोडाला थाना इलाके स्थित राकड़ी की है।

क्या है पूरा मामला?

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, राकड़ी क्षेत्र में मेहराओं का बेहद प्राचीन मंदिर है। मंदिर में रहने वाले गिर्राज मेहरा बीते करीब 15 सालों से मंदिर की देखभाल कर रहे थे। देर रात किसी शख्स ने पुजारी के हाथ-पैर और मुंह बांधकर बुरी तरह मारपीट कर हत्या कर दी। 26 जनवरी (गणतंत्र दिवस) की सुबह जब मंदिर के कपाट नहीं खुले तो स्थानीय लोगों ने उनके बेटे को बुलाया, जिसके बाद इस घटना के बारे में पता चला। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे।

यह भी पढ़ें: फीका पड़ा किसान आंदोलन: बढ़ती टकरार से अलग हुए संगठन, खत्म करने का ऐलान

रंजिश के चलते की गई हत्या

मामले में पुलिस ने बताया कि मंदिर में संघर्ष के भी निशान हैं। इसके साथ ही कुछ कमरों के ताले तोड़ने की भी कोशिश की गई है। माना जा रहा है कि किसी रंजिश के चलते इस घटना को अंजाम दिया गया है और उसे लूट के लिए हत्या दिखाने की कोशिश की गई हो। पुलिस के मुताबिक, मामले की जांच की जा रही है और सीसीटीवी फुटेज के जरिए पुलिस साक्ष्य इकट्ठा करने की कोशिश कर रही है। पुजारी की हत्या से इलाके में दहशत का माहौल पैदा हो गया है।

यह भी पढ़ें: 24 घंटे में हाईवे खाली करने का अल्टीमेटम, किसान हिंसा से देशभर में नाराजगी

जांच के लिए गठित की गईं पांच टीमें

वहीं इस मामले में डीसीपी साउथ हरेंद्र महावर ने कहा कि मामले की जांच के लिए पांच अलग-अलग टीमें गठित कर दी गई हैं। जो सीसीटीवी की फुटेज को चेक करने से लेकर संदिग्धों से पूछताछ करने तक सारा काम करेंगी। इसका साथ ही ये टीमें साइबर तकनीक के जरिए अपराधियों का पता लगाएंगी। इस केस को जल्द सुलझा लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: ट्रैक्टर रैली हिंसा के बाद Twitter का एक्शन, सस्पेंड किए 550 से ज्यादा अकाउंट

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App