दशहरा पर राजनाथ सिंह ने किया शस्‍त्र पूजन, चीन को लेकर दिया ये बड़ा बयान

राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत चाहता है कि चीन और भारत के बीच सीमा पर शांति होनी चाहिए और तनाव खत्म होना चाहिए, लेकिन मैं पूरी तरह से आश्वस्त हूं कि हमारी सेना किसी को भी देश की एक इंच जमीन पर भी कब्जा नहीं करने देगी।

Rajnath Singh

दशहरा पर राजनाथ सिंह ने किया शस्‍त्र पूजन, चीन को लेकर दिया ये बड़ा बयान (फोटो: ट्विटर)

लखनऊ: विजयादशमी के मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग के सुकना युद्ध स्मारक में शस्त्र पूजा की। इसके साथ ही रक्षा मंत्री ने गंगटोक-नाथुला रोड का उद्घाटन भी किया। इस दौरान राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत चाहता है कि चीन और भारत के बीच सीमा पर शांति होनी चाहिए और तनाव खत्म होना चाहिए, लेकिन मैं पूरी तरह से आश्वस्त हूं कि हमारी सेना किसी को भी देश की एक इंच जमीन पर भी कब्जा नहीं करने देगी।

विजयादशमी के मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह दार्जिलिंग और सिक्किम के दौरे पर हैं। दार्जिलिंग के सुकमा वार मेमोरियल में रक्षा मंत्री ने शस्त्र पूजा की। इस दौरान थलसेना अध्यक्ष एमएम नरवणे भी मौजूद थे। रक्षा मंत्री ने कहा कि भारतीय सेना के जवानों से भेंट करके मुझे हमेशा बेहद ख़ुशी होती है। उनका मनोबल बहुत ऊंचा रहा है, इसकी जितनी भी प्रशंसा की जाए कम है। भारत चाहता है कि तनाव ख़त्म हो और शांति स्थापित हो। मैं पूरी तरह आश्वस्त हूं कि हमारी सेना भारत की एक इंच ज़मीन भी दूसरे के हाथ में नहीं जाने देगी।

BRO ने पूर्वी सिक्किम के निवासियों एवं सेना की आकांक्षाओं को पूरा किया

गंगटोक-नाथुला रोड का उद्घाटन कतरे हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि आज नेशनल हाइवे-310 के आंशिक वैकल्पिक मार्ग को, सिक्किम की जनता को समर्पित करते हुए मुझे बड़ी ख़ुशी हो रही है। गंगटोक’ से ‘नाथू-ला’ को जोड़ने वाला NH –310, पूर्वी सिक्किम के सीमावर्ती क्षेत्रों के लोगों की जीवन रेखा है। 19.35 किलोमीटर लम्बे वैक्लपिक एन. एच. 310 का निर्माण करके, BRO ने पूर्वी सिक्किम के निवासियों एवं सेना की आकांक्षाओं को पूरा किया है।

Rajnath Singh

ये भी पढ़ें…विजयादशमी पर मोहन भागवत ने चीन को दिया कड़ा संदेश, पढ़ें भाषण की बड़ी बातें

उन्होंने कहा कि पुराने वैकल्पिक मार्ग Nफ–310 पर भारी मात्रा में भूस्खलन एवं Sinking की संभावनाओं वाला क्षेत्र है। इससे बरसात के मौसम में, यहाँ के लोगों एवं सेना को आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। अब इस 19.35 किलोमीटर वैकल्पिक मार्ग NH–310 बन जाने ये दिक्कतें दूर हो सकेंगी। मैं आप सबको यह भी बताना चाहता हूँ कि BRO द्वारा सिक्किम के अधिकांश सीमावर्ती सड़कों का डबल लेन में अपग्रेडेशन किया जा रहा है। इसमें से ईस्ट सिक्किम में 65 किलोमीटर सड़क निर्माण-कार्य प्रगति पर है, तथा 55 किलोमीटर सड़क निर्माण योजना के तहत है।

सिक्किम के दूर-दराज के इलाके को सड़कों से जोड़ा जाएगा

रक्षा मंत्री ने कहा कि नॉर्थ सिक्किम में भारतमाला परियोजना के अन्तर्गत ‘मंगन-चुगथांग-यूमेसेमडोंग’ और ‘चुगंथांग-लाचेन-जीमा-मुगुथांग-नाकुला’ तक 225 किलोमीटर double lane सड़क का निर्माण कार्य नियोजित है। ये कार्य 9 पैकेजों में नियोजित किए गए हैं, जिनकी अनुमानित लागत 5710 करोड़ रूपए है। पैकेज 1 की स्वीकृति शीघ्र ही होने वाली है। शेष पैकेज के DPR प्रगति में है। इस प्रोजेक्ट में आधुनिक तकनीक से बनी सड़कों से नॉर्थ सिक्किम के दूर-दराज के इलाके जोड़े जायेंगे। इससे न केवल स्थानीय सामाजिक एवं आर्थिक विकास को बढ़ावा मिलेगा बल्कि सैन्य तत्परता भी बेहतर होगी।

ये भी पढ़ें…ड्रग्स खरीदते पकड़ी गई ये बड़ी एक्ट्रेस, NCB ने 5 को किया गिरफ्तार, खुलेगा बड़ा राज

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के दिशा-निर्देश में, पूर्वोत्तर राज्यों में इंफ्रास्कट्रचर निर्माण में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। BRO के पास पूर्वोत्तर क्षेत्र में कुल 8090 किमी लम्बाई की सड़के हैं। इनमें से 5734 किमी. निर्माण योजना में है। हमारी सरकार का शुरू से ही देश के सीमावर्ती क्षेत्रों में सड़क, पुल, सुरंग एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर के निर्माण पर ध्यान केन्द्रित रहा है। सड़कें किसी भी राष्ट्र के सामाजिक-आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

राजनाथ सिंह ने कहा कि कुछ समय तक पहले तक, हमारे यहाँ एक विषम धारणा थी कि सीमावर्ती क्षेत्रों में सड़कों का विकास हमारे हित में नहीं है। समझा जाता था कि सीमा की सड़कें विपरीत परिस्थितियों में हमारा ही नुकसान कर सकती हैं। हमने इस धारणा को तोडा और सीमावर्ती क्षेत्रों में विकास की नई रहें। प्रधानमंत्री जी नियमित रूप से इन परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा कर रहें हैं और हर समय fund flow सुनिश्चित किया जा रहा है। संगठन का वार्षिक बजट, जो कि आज से पांच-छ वर्ष पहले तक तीन से चार हज़ार करोड़ के बीच हुआ करता था, वह अब 11000 करोड़ रूपए तक पहुँच चुका है।

ये भी पढ़ें…मौसम से सतर्क: भारी बारिश के बाद खराब हवा, यहां रहेगा सबसे ज्यादा खतरा

सिक्किम राज्य सरकार के योगदान की सराहना की

रक्षा मंत्री ने कहा कि इस अवसर पर मैं, सिक्किम राज्य सरकार के योगदान की भी सराहना करना चाहता हूँ. राज्य के मुख्यमंत्री, उनके मंत्रीमंडल तथा अधिकारियों का योगदान प्रशंसनीय है. BRO को सड़क निर्माण के लिए शीघ्र भूमि अधिग्रहण, वन विभाग से मंजूरी और पत्थर खदान की स्थापना में आप लोगों का विशेष सहयोग मिला। मुझे विश्वास है कि आपकी मेहनत और योगदान से पूरे राज्य का सामाजिक और आर्थिक विकास निरन्तर चलता रहेगा। मैं आने वाले वर्षों में नई चुनौतियों को लेने के लिए एवं सिक्किम के लोगों को समय पर कम लागत में, सुरक्षित सड़कें, पुल एवं सुरंग को प्रदान करने के लिए आपको शुभकामनाएं देता हूं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App