राजनाथ की ललकार: अब दुश्मन को डरने की जरूरत, आ गया राफेल

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि राफेल लड़ाकू विमान नई तकनीक से लैस है, जो भारतीय वायुसेना को नई तरह की शक्ति देगा। जो भी शक्तियां भारत की जमीन पर गलत नजरें रखती हैं उन्हें अब भारतीय वायुसेना की शक्ति को देखकर विचार करना होगा।

Published by SK Gautam Published: July 29, 2020 | 5:22 pm
Modified: July 29, 2020 | 7:13 pm

नई दिल्ली: भारतीय वायुसेना की शक्ति में आज बडी बढ़ोत्तरी हुई है। फ्रांस से उड़ान भरने के बाद पांच राफेल लड़ाकू विमान भारतीय जमीन पर पहुंच गए हैं। हरियाणा के अंबाला एयरबेस में बुधवार को राफेल विमान लैंड हुए, जहां उनका स्वागत वाटर सैल्यूट के साथ किया गया। इस मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को भारत में राफेल लड़ाकू विमानों की सफल लैंडिंग पर वायुसेना को बधाई दी। बता दें कि बुधवार दोपहर को अंबाला एयरबेस पर पांचों राफेल विमान लैंड हुए, फ्रांस से भारत को मिलने वाले कुल 36 विमानों की ये पहली खेप है। राफेल की लैंडिंग के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लगातार कई ट्वीट किए।

चिड़िया अंबाला में लैंड कर गई

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा कि नई चिड़िया अंबाला में लैंड कर गई हैं, राफेल विमान भारतीय वायुसेना की जरूरतों को हर तरह से पूरा करते हैं। इन विमानों को लेकर जो आरोप लगाए गए थे, उनका पहले ही जवाब दे दिया गया है। राफेल लड़ाकू विमान एक नए युग की शुरुआत हैं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लिखा कि इस मौके पर मैं वायुसेना को बधाई देना चाहता हूं। हमें उम्मीद है कि वायुसेना की 17 स्क्वाड्रन, गोल्डन एरो, अपनी नीति उड्यम अजश्रम पर खरा उतरेगा। मुझे खुशी है कि इससे वायुसेना की ताकत बढ़ेगी।

ये भी देखें: राखीः अद्भुत हैं ये कहानियां, पढ़ेंगे तो धागे की ताकत का मान लेंगे लोहा

रक्षा मंत्री ने फ्रांस सरकार का शुक्रिया किया

राजनाथ सिंह ने इस मौके पर फ्रांस सरकार का शुक्रिया किया, साथ ही उन कंपनियों को भी धन्यवाद दिया जिन्होंने कोरोना संकट के बीच भी राफेल की डिलीवरी वक्त पर की। रक्षा मंत्री ने लिखा कि राफेल विमान इसलिए खरीदे गए क्योंकि पीएम नरेंद्र मोदी ने सही निर्णय लिया और सरकार से सरकार का समझौता करवाया, जबकि ये प्रक्रिया लंबे वक्त से रुकी हुई थी।

राफेल लड़ाकू विमान नई तकनीक से लैस

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि राफेल लड़ाकू विमान नई तकनीक से लैस है, जो भारतीय वायुसेना को नई तरह की शक्ति देगा। जो भी शक्तियां भारत की जमीन पर गलत नजरें रखती हैं उन्हें अब भारतीय वायुसेना की शक्ति को देखकर विचार करना होगा। गौरतलब है कि भारत ने फ्रांस से कुल 36 राफेल विमान खरीदे हैं। ये राफेल की पहली खेप है जो भारत को मिली है, जल्द ही पांच विमान और मिलेंगे। साल 2021-22 तक सभी 36 विमान भारत को मिल जाएंगे।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App