प्याज की कीमत में लगी आग, केंद्रीय मंत्री ने दिया ऐसा बयान

प्याज की बढ़ी कीमतों से जनता परेशान हैं, तो वहीं इसकी बढ़ती कीमतों को लेकर अब केंद्र सरकार भी सक्रिय हो गई है। प्याज की बढ़ती कीमतो पर केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने बुधवार को सचिवों के साथ बैठक की।

नई दिल्ली: प्याज की बढ़ी कीमतों से जनता परेशान हैं, तो वहीं इसकी बढ़ती कीमतों को लेकर अब केंद्र सरकार भी सक्रिय हो गई है। प्याज की बढ़ती कीमतो पर केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने बुधवार को सचिवों के साथ बैठक की।

बैठक के बाद रामविलास पासवान ने मीडिया से कहा कि प्याज की जमाखोरी पर कड़ी नजर रखी जा रही है। बहुत जल्द बाजार में नए और आयातित प्याज बड़ी तादाद में आने लगेंगे जिसके कीमतें तेजी से कम हो जाएंगी।

यह भी पढ़ें…तीस हजारी विवाद: दिल्ली पुलिस को झटका, वकीलों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं

केंद्रीय मंत्री ने कीमत कम करने के सुझाव आम लोगों से मांगे हैं। उन्होंने कहा कि कीमतों को कैसे कम किया जाए मीडिया और आम लोग इस पर अपने सुझाव सोशल मीडिया या कंज्यूमर ऐप के जरिए हमें दे सकते हैं।

बता दें कि रामविलास पासवान ने कीमतों को जल्द नियंत्रित करने के उपायों की समीक्षा के लिए सचिवों के साथ बैठक की। इस बैठक के बाद उन्होंने ट्वीट कर बताया कि खरीफ की बुवाई में देरी की वजह से प्याज की नई फसल बाजार में देर से पहुंच रही है।

यह भी पढ़ें…महाराष्ट्र: सरकार बनाने को लेकर क्या चल रहा है, यहां जानें हर अपडेट

बाजार में प्याज की कीमतें देश की कई शहरों में 100 रुपए के पार जा चुकी हैं। लखनऊ में प्याज खुदरा में 80 से 100 प्रति किलो बिक रही है। राजधानी दिल्ली की भी यह हालत है।

केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट कर कहा कि प्याज उत्पादक राज्यों, खासकर महाराष्ट्र और कर्नाटक में अधिक बारिश के कारण फसल को काफी नुकसान पहुंचा है। प्याज की ढुलाई में भी परेशानी आ रही है। सरकार अपने बफर स्टॉक से लगातार प्याज की आपूर्ति कर रही है।

यह भी पढ़ें…बस ने स्कूटी सवार महिला को रौंदा, मौत, CM आवास के पास की घटना

पासवान ने कहा कि बाजार में प्याज की आपूर्ति बढ़ाने के लिए इजिप्ट, टर्की, ईरान और अफगानिस्तान से प्याज आयात की जा रही है। विदेश और कृषि मंत्रालय से अनुरोध किया गया है कि इन देशों से बात कर निजी कंपनियों को प्याज के आयात की सुविधा उपलब्ध कराएं।