RAW के पूर्व अधिकारी ने हामिद अंसारी पर लगाए गंभीर आरोप

पूर्व रॉ अधिकारी एन के सूद ने ये भी कहा कि मुम्बई में साल 1992 में जो धमाके हुए थे। उससे ठीक पहले हामिद अंसारी और तत्कालीन एडिशनल सेक्रेटरी (IB, intelligence bureau) रतन सहगल रॉ के खाड़ी देशों में फैलसे नेटवर्क को ध्वस्त करने के लिए आपस में मिल गए थे।

नई दिल्ली: रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (RAW) के एक पूर्व अधिकारी ने पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी को लेकर एक सनसनीखेज बयान दिया है। उन्होंने पूर्व उपराष्ट्रपति पर आरोप लगाते हुए कहा कि हामिद अंसारी ने साल 1990-92 में तेहरान (ईरान) में उन्होंने रॉ (RAW) के अधिकारियों की जिंदगी खतरे में डालते हुए उनकी जानकारी ईरान सरकार को सौंप दी थी।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस में लगातार इस्तीफे का दौर जारी, सिंधिया के बाद इन्होंने छोड़ा पद

पूर्व रॉ अधिकारी एन के सूद ने ये भी कहा कि मुम्बई में साल 1992 में जो धमाके हुए थे। उससे ठीक पहले हामिद अंसारी और तत्कालीन एडिशनल सेक्रेटरी (IB, intelligence bureau) रतन सहगल रॉ के खाड़ी देशों में फैलसे नेटवर्क को ध्वस्त करने के लिए आपस में मिल गए थे।

यह भी पढ़ें: बैंक से 50 हजार रुपये से ज्यादा का करते हैं लेनदेन तो पढ़ें ये जरूरी खबर

एक रिपोर्ट के अनुसार, अब रॉ के पुर्व अधिकारियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस मसले में एक पत्र लिखा है। इस पत्र के जरिये पूर्व अधिकारियों ने पीएम मोदी से अपील की है कि इसकी जांच की जाए और दोषियों को सजा दी जाए।