Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

Yes Bank से बड़ी खबरः RBI ने किया ये एलान, ग्राहकों में खुशी की लहर

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास का कहना है कि कोरोना वायरस से भारतीय इकोनॉमी ग्रोथ को भी झटका लगेगा। उन्होंने कहा कि केंद्रीय बैंक कोरोना का...

Deepak Raj

Deepak RajBy Deepak Raj

Published on 16 March 2020 12:11 PM GMT

Yes Bank से बड़ी खबरः RBI ने किया ये एलान, ग्राहकों में खुशी की लहर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास का कहना है कि कोरोना वायरस से भारतीय इकोनॉमी ग्रोथ को भी झटका लगेगा। उन्होंने कहा कि केंद्रीय बैंक कोरोना का अर्थव्यवस्था पर कम असर पड़े उसपर काम कर रहा है।

येस बैंक को लेकर RBI का फैसला

शक्तिकांत दास ने कहा कि येस बैंक के ग्राहकों को राहत देने के लिए बड़ी तेजी से काम किया जा रहा है। बुधवार से येस बैंक से पैसा निकालने के लिए लगाई गई रोक हटा दी जाएगी। यानी ग्राहकों अपने खातों से 50 हजार रुपये से ज्यादा निकाल पाएंगे। ये पाबंदी बुधवार की शाम 6 बजे खत्म हो जाएगी।

ये भी पढ़ें-कोरोना वायरस पर सरकार बेहद सख्त, ये नियम तोड़ने पर 91 हजार जुर्माना, होगी जेल

इसके अलावा उन्होंने कहा कि येस बैंक में डिपॉजिट करने वाले ग्राहकों के पैसे बिल्कुल सुरक्षित है, उन्हें किसी तरह से घबराने की जरूरत नहीं है। येस बैंक का नया बोर्ड 26 मार्च से कामकाज संभालेगा। शक्तिकांत दास ने कहा कि भारतीय बैंकिंग सिस्टम पूरी तरह से सुरक्षित है। लोग अफवाहों पर ध्यान न दें। उन्होंने येस बैंक के ग्राहकों से कहा कि वह किसी तरह से घबराएं नहीं, उनका पैसा सुरक्षित है और आगे भी रहेगा।

कोरोना वायरस की वजह से घटेगी ग्रोथ

शक्तिकांत दास ने कहा कि कोरोना वायरस (कोविड-19) मानवीय त्रासदी बनता जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस संकट की वजह से दुनिया भर के केंद्रीय बैंकों ने कदम उठाएं हैं। इससे दुनिया की इकोनॉमी प्रभावित हुआ है, जिसका असर भारतीय इकोनॉमी पर भी हो रहा है। कोविड-19 की वजह से भारतीय ग्रोथ घट सकती है। हालांकि उन्होंने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में कोई रेट कट का ऐलान नहीं किया।

ये भी पढ़ें-कमलनाथ के 10 दिन: क्या बचा पाएंगे सत्ता या BJP के इन विकल्पों से गिरेगी सरकार

गौरतलब है कि अमेरिकी फेड रिजर्व ने एक महीने में दूसरी बार रेट किया है। रविवार, 15 मार्च को फेड रिजर्व ने आर्थिक मंदी से बचने और इकोनॉमी में लिक्विडिटी बनाए रखने के लिए रेट कट किया है। इससे पहले अमेरिकी फेड रिजर्व ने 3 मार्च को रेट कट किया था। फेड रिजर्व के अलावा, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, यूरोपीय यूनियन के केंद्रीय बैंकों ने भी रेट कट किया है।

Deepak Raj

Deepak Raj

Next Story