राजधानी से भी आगे है ये ट्रेन, सिर्फ़ कुछ ही घंटे में पहुंचेंगे दिल्ली

अब सफ़र करना होगा और भी आसान। अब 4 घंटे में आप पहुंच सकते है दिल्ली से कानपुर। इसके लिए भारतीय रेलवे ने दोनों शहरों के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन शुरु करने जा रही है। जिसका आज यानि गुरुवार को ट्रायल होगा। वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का ट्रायल नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से कानपुर सेंट्रल के बीच होगा। इस ट्रेन के नई दिल्ली से कानपुर सेंट्रल पहुंचने का लक्ष्य 4:20 घंटे रखा गया है।

राजधानी से भी आगे है ये ट्रेन, सिर्फ़ कुछ ही घंटे में पहुंचेंगे दिल्ली

राजधानी से भी आगे है ये ट्रेन, सिर्फ़ कुछ ही घंटे में पहुंचेंगे दिल्ली

नई दिल्ली : अब सफ़र करना होगा और भी आसान। अब 4 घंटे में आप पहुंच सकते है दिल्ली से कानपुर। इसके लिए भारतीय रेलवे ने दोनों शहरों के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन शुरु करने जा रही है। जिसका आज यानि गुरुवार को ट्रायल होगा। वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का ट्रायल नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से कानपुर सेंट्रल के बीच होगा। इस ट्रेन के नई दिल्ली से कानपुर सेंट्रल पहुंचने का लक्ष्य 4:20 घंटे रखा गया है।

ये भी देंखे:कृष्णानंद मर्डर केस: स्पेशल जज बोले- न मुकरे होते गवाह तो कुछ और ही होता फैसला

ये ट्रेन नई दिल्ली से अलीगढ़ होते हुए कानपुर तक का सफर पूरा करेगी। वंदे भारत एक्सप्रेस का ट्रायल आज सुबह दिल्ली से कानपुर के बीच शुरु हुआ. वापसी में ये ट्रेन दोपहर 12 बजे कानपुर से नई दिल्ली के लिए रवाना होगी और शाम साढ़े चार बजे नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंचेगी। इस ट्रेन में नई रैक में पैंट्री के लिए भी जगह बनाई गई है।

वंदे भारत एक्सप्रेस पहली पूर्ण स्वदेश विकसित और निर्मित सेमी हाई स्पीड ट्रेन है। अभी ये ट्रेन नई दिल्ली से वाराणसी के बीच चलाई जा रही है। इसकी गति 130 किमी प्रति घंटे है। यह दिल्ली से वाराणसी की दूरी सिर्फ 8 घंटे में तय करती है। अब इस ट्रेन के कई रूट्स पर चलाने की बात हो रही है।

ये भी देंखे:बिजनौर: गोली मारकर हत्यारों ने युवक को मौत के घाट उतार

संबंधित कहानियां

कई खूबियों से लैस इस ट्रेन के अगर किराए की बात करें तो अभी वंदे भारत एक्सप्रेस का नई दिल्ली से वाराणसी के बीच चेयर कार का किराया 1760 रुपये है। वहीं एग्जीक्यूटिव चेयरकार का नई दिल्ली से वाराणसी तक का किराया 3310 रुपये है। वंदे भारत एक्सप्रेस को मेक इन इंडिया के तहत बनाया गया है जो एक सेमी बुलेट ट्रेन है।

ये भी देंखे:अहमदाबाद: गृहमंत्री अमित शाह ने जगन्नाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की

इस ट्रेन को एयरो डायनामिक्स के हिसाब से डिजाइन किया गया है। इसमें शीशे की बड़ी-बड़ी खिड़कियां लगाई गई हैं। पूरी ट्रेन में ऑटोमेटिक दरवाजे लगे हैं। साथ ही ट्रेन में दिव्यांगों के लिए खास तरीके के टॉयलेट लगाए गए हैं। साथ ही कुर्सियां खास तरीके से डिजाइन की गई हैं, जिससे इनको जिस डायरेक्शन में ट्रेन जा रही होती है उसी डायरेक्शन की तरफ मोड़ा जा सकता है। इस ट्रेन में एलईडी लाइटिंग की गई है।