Top

MP: विश्वविद्यालय की परीक्षा में पूछा ऐसा सवाल, मचा हड़कंप, छात्रों ने किया प्रदर्शन

मध्य प्रदेश के ग्वालियर के जीवाजी विश्वविद्यालय की कला परास्नातक परीक्षा के एक प्रश्नपत्र में ऐसा सवाल पूछा गया जिस पर बवाल मच गया है। प्रश्न पत्र में कुछ स्वतंत्रता सेनानियों के लिए कथित रूप से 'क्रांतिकारी आतंकवादी' जैसे शब्द का इस्तेमाल किया गया है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 27 Dec 2019 2:45 PM GMT

MP: विश्वविद्यालय की परीक्षा में पूछा ऐसा सवाल, मचा हड़कंप, छात्रों ने किया प्रदर्शन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के ग्वालियर के जीवाजी विश्वविद्यालय की कला परास्नातक परीक्षा के एक प्रश्नपत्र में ऐसा सवाल पूछा गया जिस पर बवाल मच गया है। प्रश्न पत्र में कुछ स्वतंत्रता सेनानियों के लिए कथित रूप से 'क्रांतिकारी आतंकवादी' जैसे शब्द का इस्तेमाल किया गया है।

छात्रों और बीजेपी ने विरोध किया जिसके जांच समिति का गठन कर दिया गया है। परीक्षा में प्रश्न पूछा गया कि क्रांतिकारी, आतंकवादियों और उग्रवादियों में क्या अंतर है?

दरअसल राजनीति शास्त्र के परास्नातक पाठ्यक्रम के तीसरे सेमेस्टर की परीक्षा में प्रश्नपत्र 'राजनीतिक दर्शन-3, आधुनिक भारत का राजनीतिक विचार' में सवाल पूछा गया, 'क्रांतिकारी आतंकवादियों की गतिविधियों का वर्णन कीजिए। उग्रवादियों और क्रांतिकारी आतंकवादियों में क्या अंतर है?' अब इस सवाल के बाद बवाल बढ गया है।

यह भी पढ़ें...CAA पर कांग्रेस के इस नेता ने कहा- पेट्रोल-डीजल तैयार रखो, ऑर्डर मिलते ही जला देना

छात्र संगठन एआईडीएसओ ने प्रश्नपत्र में क्रांतिकारी आतंकवादी शब्द लिखे जाने पर आपत्ति जताई और विश्वविद्यालय में प्रदर्शन किया। छात्रों ने कहा कि क्रांतिकारी हमारे आदर्श हैं और उनको आतंकवादी कहना गलत है।

यह भी पढ़ें...सेना ने तोप से उड़ाया आतंकी कैंप: बिछ गई लाशें ही लाशें, बौखलाया पाकिस्तान

बीजेपी ने प्रश्न पर ‌आपत्ति जताई है। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने ट्वीट कर कहा कि यह शर्मनाक भी है और दुःखदायी भी! जिनके बलिदान के कारण हम खुली हवा में सांस ले पा रहे हैं, उन्हें कोई कैसे आतंकवादी कह सकता है?

जीवाजी विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार आई के मंसूरी ने कहा कि एक समिति का गठन कर दिया गया है और मामले की जांच की जा रही है। संबंधित परीक्षक से इस बारे में जानकारी इकट्ठा की जा रही है। आगे ऐक्शन लिया जाएगा।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story