बरसात, बाढ़ और बिहार में अब नया पोस्टर वार

सोमवार को जनता दल ‘जदयू’ ने एक पोस्टर जारी किया था, जिसके द्वारा संदेश दिया गया कि नीतीश कुमार ठीक हैं, नीतीश ही मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार है। वहीं मंगलवार को राष्ट्रीय जनता दल ‘राजद’ ने पोस्टर

बिहार: बरसात और बाढ़ के बाद बिहार की सियासी गर्मी बढ़ती नजर आ रही है। बिहार में राजनीतिक ज्ञान और विज्ञान का अनोखा रुप देखने को मिलेगा, क्योंकि आगामी वर्ष में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।

जिसके संदर्भ में राजनीतिक पार्टियों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। बड़ी खबर यह है कि आगामी चुनाव की तैयारियों के बीच राज्य में पोस्टर वॉर शुरू हो गई है।

यह भी पढ़ें:  भारत नहीं डरेगा: इमरान चाहे कर दे ये ऐलान, पछताएगा पाकिस्तान ही

दरअसल, सोमवार को जनता दल ‘जदयू’ ने एक पोस्टर जारी किया था, जिसके द्वारा संदेश दिया गया कि नीतीश कुमार ठीक हैं, नीतीश ही मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार है।

वहीं मंगलवार को राष्ट्रीय जनता दल ‘राजद’ ने पोस्टर जारी करते हुए बिहार राज्य को बीमार बताया है। साथ ही राज्य में हो रहे विभिन्न अपराधों को पोस्टर में दिखाया गया है।

क्या है मामला…

गौरतलब है कि सोमवार को जदयू ने पोस्टर जारी करते हुए कहा था कि ‘क्यों करें विचार, ठीके तो हैं नीतिश कुमार।’ साथ ही साथ समर्थकों और कार्यकर्ताओं को इस पोस्टर के जरिए नया चुनावी नारा मिल गया था। बता दें कि यह पोस्टर राजधानी पटना के कई चौराहों पर लगा हुआ है।

यह भी पढ़ें:  मारी गई पाकिस्तानी सेना! इमरान को आज नहीं आएगी नींद

वहीं विपक्षी दल राजद इसी के ताक में बैठा था, ऐसे में विपक्षी दल ने भी पोस्टर जारी किया, जिसमें कहा गया कि ‘क्यों न करें विचार, बिहार जो है बीमार।’ राजद ने बिहार में होने वाले अपराधों की तरफ ध्यान खींचने की कोशिश की है।

खास बात यह है कि यह पोस्टर पार्टी कार्यालय के बाहर लगाया गया है। रोचक तथ्य यह है कि पोस्टर पर पार्टी अध्यक्ष लालू यादव या उनके बेटे तेजस्वी और तेजप्रताप यादव की तस्वीरें नही हैं।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App