राम मंदिर पर बोले RSS प्रमुख मोहन भागवत, अब राम का काम हो कर रहेगा

लोकसभा चुनाव में बीजेपी की प्रचंड जीत के बाद राष्ट्रीय स्वयं सेवक (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने बड़ा दिया है। उन्होंने संघ के एक कार्यक्रम में कहा कि राम का काम करना है और राम का काम होकर रहेगा। आरएसएस प्रमुख ने कहा कि इसकी निगरानी भी करनी होगी।

आरएसएस चीफ मोहन भागवत

उदयपुर: लोकसभा चुनाव में बीजेपी की प्रचंड जीत के बाद राष्ट्रीय स्वयं सेवक (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने बड़ा दिया है। उन्होंने संघ के एक कार्यक्रम में कहा कि राम का काम करना है और राम का काम होकर रहेगा। आरएसएस प्रमुख ने कहा कि इसकी निगरानी भी करनी होगी। मोहन भागवत के इस बयान से कयास यही निकाले जा रहे हैं कि वह अयोध्या में राम मंदिर की बात कर रहे हैं। हालांकि उन्होंने इसे स्पष्ट नहीं किया।

यह भी पढ़ें…ब्राजील की जेल में कैदियों के बीच झड़प, 15 की मौत

उदयपुर में चल रहे संघ शिक्षा द्वितीय वर्ष प्रशिक्षण के दौरान लोगों को संबोधित करते हुए भागवत ने कहा, ‘राम का काम करना है और राम का काम होकर रहेगा। राम का काम करना है तो अपना काम करना है, अपना काम खुद करेंगे तो ठीक होता है। सौंप देते हैं तो किसी को निगरानी करनी होती है।’ भागवत से पहले मुरारी बापू ने कहा था कि राम का काम सबको करना है। उसी को जोड़ते हुए भागवत ने कहा कि राम का काम होकर रहेगा।

यह भी पढ़ें…पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा में 22 प्रतिशत विद्यार्थी ने नहीं हुए शामिल

आरएसएस अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की पैरोकार रही है। इसके लिए अखिल भारतीय स्तर पर कई आंदोलन भी चलाए गए हैं। संघ मौजूदा बीजेपी सरकार पर दबाव भी बनाती रही है ताकि किसी उचित फैसले के तहत राम मंदिर का निर्माण हो सके। हालांकि केंद्र की मोदी सरकार यह मसला अदालती फैसले के जरिये निबटाना चाहती है। अयोध्या की विवादित जमीन पर मंदिर बने या नहीं, फिलहाल यह मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है।