1984 दंगा: पित्रौदा की टिप्पणी पर बोले राहुल, उन्हें देश से माफी मांगनी चाहिए

वर्ष 1984 के दंगों पर सैम पित्रौदा की टिप्पणी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा द्वारा लगातार कांग्रेस पर निशाना साधे जाने के बीच पार्टी प्रमुख राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि उन्हें (पित्रौदा) अपने आप पर शर्म आनी चाहिए और देश से माफी मांगनी चाहिए।

खन्ना (पंजाब): वर्ष 1984 के दंगों पर सैम पित्रौदा की टिप्पणी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा द्वारा लगातार कांग्रेस पर निशाना साधे जाने के बीच पार्टी प्रमुख राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि उन्हें (पित्रौदा) अपने आप पर शर्म आनी चाहिए और देश से माफी मांगनी चाहिए।

गांधी यहां फतेहगढ़ साहिब (आरक्षित सीट) पर शिअद के डी एस गुरू के खिलाफ कांग्रेस के उम्मीदवार अमर सिंह के पक्ष में एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने अपने भाषण में कहा, ‘‘ सैम पित्रौदा ने 1984 (सिख विरोधी दंगे) के बारे जो कुछ कहा है, वह गलत है और उन्हें देश से माफी मांगना चाहिए। मैं यह सार्वजनिक रूप से कह रहा हूं और मैंने फोन पर भी उनसे यही बात कही है। पित्रौदा जी, आपने जो कुछ कहा है, वह परी तरह गलत है, आपको अपने आप पर शर्म आनी चाहिए। आपको सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए।’’

यह भी पढ़ें…आर्मी स्कूल के कर्मियों की सेवा नियमितिकरण याचिका पर सरकार से जवाब-तलब

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह भी इस कार्यक्रम में मौजूद थे। भाजपा ने ओवरसीज कांग्रेस के प्रमुख के बयान को लेकर कांग्रेस पर हमला तेज कर दिया है क्योंकि 1984 का सिख विरोधी दंगा पंजाब में एक भावनात्मक मुद्दा है। राज्य में 19 मई को चुनाव है।

यह भी पढ़ें…गौतम गंभीर के खिलाफ 2 वोटर कार्ड मामला, आतिशी को सबूत पेश करने का निर्देश

हरियाणा के रोहतक में और पंजाब के होशियारपुर में चुनाव प्रचार के दौरान मोदी ने शुक्रवार को यह कहते हुए कांग्रेस पर प्रहार किया कि पित्रौदा की टिप्पणी से विपक्षी दल का चरित्र एवं अहंकार झलकता है। अमृतसर में रविवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पूछा था कि क्या सिख नरसंहार को सही ठहराने पर पित्रौदा के माफी मांगने से मामला समाप्त हो गया है।

भाषा