×

शरजील के बाद इस लड़की ने दिया विवादित बयान, संबित पात्रा ने कहा- इतना जहर...

हाल ही में JNU के पीएचडी स्कॉलर शरजील इमाम का एक विवादित वीडियो सामने आया था और इसके बाद एक और विवादित वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में नागरिकता संसोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर का विरोध कर रही एक प्रदर्शनकारी संसद हमले के दोषी अफजल गुरु को निर्दोष बताते हुए सुप्रीम कोर्ट पर सवाल खड़े करते हुए नजर आ रही है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 27 Jan 2020 5:32 AM GMT

शरजील के बाद इस लड़की ने दिया विवादित बयान, संबित पात्रा ने कहा- इतना जहर...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: हाल ही में JNU के पीएचडी स्कॉलर शरजील इमाम का एक विवादित वीडियो सामने आया था और इसके बाद एक और विवादित वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में नागरिकता संसोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर का विरोध कर रही एक प्रदर्शनकारी संसद हमले के दोषी अफजल गुरु को निर्दोष बताते हुए सुप्रीम कोर्ट पर सवाल खड़े करते हुए नजर आ रही है। बताया जा रहा है कि यह विडियो भी दिल्ली के शाहीन बाग का है, जहां पर पिछले एक महीने से सीएए और एनआरसी के खिलाफ विरोध हो रहा है। आपको बता दें कि शरजील के विडियो से किनारा करते हुए शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने कहा था कि शरजील का भाषण शाहीन बाग का नहीं है।

यह भी पढ़ें: मौसम का यू-टर्न: हिमाचल में येलो अलर्ट, UP समेत इन राज्यों में बारिश की आशंका

संबित पात्रा ने ट्विटर पर शेयर किया वीडियो

वहीं महिला प्रदर्शनकारी का वीडियो को बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने ट्विटर पर शेयर किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि, अब उस नापाक शरजील इमाम के बाद जरा इस मोहतरमा को भी सुन लीजिए- “हमें किसी पे भरोसा नहीं है।” “इस Supreme Court पर भी विश्वास नहीं।” अफ़ज़ल गुरु निर्दोष था रामजन्मभूमि पर मस्जिद बनना था। दोस्तों इतने ज़हर की खेती(वो भी mass manufacturing) इन कुछ ही दिनो में तो नहीं हुआ होगा??



वीडियो में क्या कह रही है युवती

इस वीडियो में युवती कहते हुए नजर आ रही है कि, 'हम सीएए-एनआरसी की वजह से उतरे हैं, लेकिन सिर्फ उसके खिलाफ नहीं उतरे हैं। सीएए-एनआरसी के बाद हम एहसास करते हैं कि न हम सरकार पर भरोसा कर सकते हैं, न हम सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा कर सकते हैं। ये वही सुप्रीम कोर्ट है, जिसने इंडिया की ‘कलेक्टिव कॉन्शंस’ के लिए अफजल गुरु को फांसी पर चढ़ाया था। आज पता चलता है कि अफजल गुरु का संसद पर हमले में कोई हाथ नहीं था। सुप्रीम कोर्ट पहले कहती है कि बाबरी मस्जिद के नीचे कोई मंदिर नहीं था, ताला तोड़ना गलत था, मस्जिद गिराना गलत है और फिर बोलती है कि यहां पर मंदिर बनेगा। तो हमको सुप्रीम कोर्ट से कोई उम्मीद नहीं है।

यह भी पढ़ें: काबिले तारीफ़: इस जिले के जिलाधिकारी ने दिव्यांग से कराया ध्वजारोहण

शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने जारी किया बयान

वहीं इससे पहले शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने शरजील के विडियो से किनारा करते हुए बयान जारी किया कि, उनका लीडर नहीं है और शरजील से उनका कोई संबंध नहीं है। बयान में यह भी बताया गया कि विवादित भाषण शाहीन बाग में नहीं दिया गया है। यह प्रदर्शन महिलाएं कर रही हैं और शरजील का इससे कोई लेना देना नहीं है।

आपको बता दें कि शरजील ने अपने बयान में कहा था कि हमारे पास पांच लाख लोग हों संगठित तो हम असम या नार्थ-ईस्ट से हिंदुस्तान को हमेशा के लिए अलग कर सकते हैं। स्थाई नहीं तो एक-दो महीने के लिए असम को हिंदुस्तान से कट कर ही सकते हैं। रेलवे ट्रैक पर इतना मलबा डालो कि उनको एक महीना हटाने में लगेगा। जाना हो तो जाएं एयरफोर्स से। असम को काटना हमारी जिम्मेदारी है।



यह भी पढ़ें: घर का ये कमरा होता है ‘अनसेफ’, यहां कभी आ सकता है हार्ट अटैक, जानिए कैसे

Shreya

Shreya

Next Story