बढ़ेगी सबरीमाला मंदिर की सुरक्षा, जानें क्यों हो रही व्यवस्था

दो महीने तक चलने वाले इस उत्सव के चलते मंदिर परिसर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। इस दौरान सुरक्षा के लिए 10 हजार से ज्यादा पुलिसकर्मियों को मंदिर परिसर के आसपास और पूरे इलाकों में तैनात किया जाएगा।

तिरुवनंतपुरम: देश के प्रसिद्ध सबरीमला मंदिर में 17 नवंबर से मंडलम मकर विलक्कू उत्सव शुरू होने जा रहा है। दो महीने तक चलने वाले इस उत्सव के चलते मंदिर परिसर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। इस दौरान सुरक्षा के लिए 10 हजार से ज्यादा पुलिसकर्मियों को मंदिर परिसर के आसपास और पूरे इलाकों में तैनात किया जाएगा।

ये भी पढ़ेें—रामलला कमाते हैं दिन के ₹1000, सरकार बढ़ा सकती है सैलरी

डीजीपी लोकनाथ बेहरा ने कहा कि इस साल तीर्थयात्रा के दौरान और सबरीमाला के आसपास कड़ी सुरक्षा रखी जाएगी। तीर्थयात्रा के दौरान सुरक्षा व्यवस्था में 24 पुलिस अधीक्षक और सहायक एसपी, 112 डीएसपी, 264 निरीक्षक, 1185 उप-निरीक्षक टीम में तैनात किए जाएंगे। इसके साथ ही विज्ञप्ति में कहा गया है कि 307 महिलाओं सहित कुल 8402 सिविल पुलिस अधिकारी भी धर्मस्थल परिसर के आसपास ड्यूटी पर तैनात रहेंगे।

मुख्यमंत्री ने भी लिया सुरक्षा का जायजा

मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने पिछले हफ्ते विभिन्न विभागों और त्रावणकोर देवास्वोम बोर्ड द्वारा की जा रही तैयारियों का जायजा लिया था।

ये भी पढ़ेें— महाराष्ट्र में छीछालेदर! पुत्रमोह ने खत्म कर दी इन नेताओं की सियास

बताते चलें कि मंदिर में दक्षिणपंथी संगठनों द्वारा एलडीएफ सरकार के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करने का विरोध किया गया था। जिसमें सभी आयु वर्ग की महिलाओं को शामिल किया गया था। जिनमें मासिक धर्म में शामिल महिलाएं, प्राचीन मंदिर में प्रार्थना करने की पेशकश कर रहे थे। वहीं अब सुप्रीम कोर्ट इस मामले में जल्द दोबारा फैसला सुनाने वाला है।