×

एम्स में लगी आग पर सुरक्षा कर्मी ने किया बड़ा खुलासा

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में शनिवार को आग लग गयी थी। हालांकि, आग पर काबू पा लिया गया था। वहीँ, हॉस्पिटल के टीचिंग ब्लॉक में तैनात गार्ड राजेश महतो (31) ने शनिवार को एम्स में लगी आग को लेकर कई बातें बतायीं। उन्होंने आग को सबसे पहले देखा था। ऐसे उन्होंने जल्दी से नियंत्रण कक्ष को सूचना दी।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 18 Aug 2019 4:32 AM GMT

एम्स में लगी आग पर सुरक्षा कर्मी ने किया बड़ा खुलासा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में शनिवार को आग लग गयी थी। हालांकि, आग पर काबू पा लिया गया था। वहीँ, हॉस्पिटल के टीचिंग ब्लॉक में तैनात गार्ड राजेश महतो (31) ने शनिवार को एम्स में लगी आग को लेकर कई बातें बतायीं। उन्होंने आग को सबसे पहले देखा था। ऐसे उन्होंने जल्दी से नियंत्रण कक्ष को सूचना दी।

ये भी देखें:हिमाचलः बारिश और बाढ़ के चलते कुल्लू में ब्यास नदी पर बना पुल ढहा

गार्ड राजेश ने कहा, 'मैंने सबसे पहले आग की लपटें देखी। मैंने इस बारे में नियंत्रण कक्ष (कंट्रोल रूम) को बताया, जिसके बाद दमकल विभाग को सूचना दी गई।' एम्स के टीचिंग ब्लॉक में लगी आग के चलते कुछ रोगियों को वहां से हटाना पड़ा, हालांकि इसमें कोई घायल नहीं हुआ। आग से रक्त आदि के नमूने तथा मेडिकल रिपोर्ट नष्ट हो गईं।

ये भी देखें:चौघड़िया से निकालते हैं शुभ मुहूर्त, जानिए कैसे बांटते हैं इसे 8 हिस्सों में

हादसे के समय ज्यादा छात्र नहीं थे मौजूद

राजेश ने कहा कि शनिवार का दिन था और विभाग आमतौर पर दोपहर एक बजे बंद होता है। जब आग लगी उस वक्त इमारत के अंदर ज्यादा छात्र नहीं थे, जिसके चलते वहां मौजूद छात्रों को समय रहते निकाल लिया गया और कोई हताहत नहीं हुआ।

ये भी देखें:मौसम विभाग का अलर्ट जारी, कई राज्यों में बाढ़ और भारी बारिश कर रही तांडव

5 बजे शाम को लगी थी आग

वैसे तो, रोज हजारों की संख्या में इलाज कराने वाले मरीजों और उनके परिजनों को भी आग लगने से परेशानी झेलनी पड़ी। आग से अस्पताल में आपातकालीन सेवाएं भी प्रभावित हुई। आग माइक्रोबायोलॉजी विभाग में शाम करीब पांच बजे लगी। इसके बाद उसके करीब स्थित एबी वार्ड के कुछ फ्लोर से रोगियों को हटाया गया।

ये भी देखें:भूटान में बोले पीएम मोदी- युवा भूटानी वैज्ञानिक जाएंगे भारत

दमकल की 34 गाड़ियों ने आग पर पाया काबू

अस्पताल आए अनिल कुमार (40) ने बताया कि आग लगने के बाद वह इलाज नहीं करा सके। उन्होंने कहा कि रोगियों ने जब अस्पताल में आग लगने के बारे में सुना तब वे दहशत में आ गए। वहीं दिल्ली अग्निशमन सेवा के एक अधिकारी ने कहा कि उन्हें शाम करीब पांच बजे आग लगने के बारे में एक फोन कॉल आया और मौके पर दमकल की 34 गाड़ियां भेजी गई।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story