जामिया पहुंची क्राइम ब्रांच की टीम, यहां कराई वीडियोग्राफी, छात्रों के बयान दर्ज

जामिया मिल्लिया इस्लामिया की लाइब्रेरी में मंगलवार को दो महीने बाद पहुंची क्राइम ब्रांच की टीम ने जांच शुरू कर दी। सोशल मीडिया पर लाइब्रेरी में छात्रों पर पुलिस लाठीचार्ज का वीडियो वायरल होने के बाद टीम ने परिसर के हर इलाके का मुआयना किया।

नई दिल्ली: जामिया मिल्लिया इस्लामिया की लाइब्रेरी में मंगलवार को दो महीने बाद पहुंची क्राइम ब्रांच की टीम ने जांच शुरू कर दी। सोशल मीडिया पर लाइब्रेरी में छात्रों पर पुलिस लाठीचार्ज का वीडियो वायरल होने के बाद टीम ने परिसर के हर इलाके का मुआयना किया।

जांच टीम की अगुवाई कर रहे डीसीपी क्राइम राजेश देव ने लाइब्रेरी परिसर के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला। साथ ही कथित रूप से पुलिस क्रूरता का शिकार हुए छात्र मुजीब का बयान लिया गया। कई दूसरे छात्रों से भी पूछताछ की गई है, जिसमें छात्रों ने पूरी घटना की जानकारी दी।

जामिया बवाल: छात्र ने मांगे 2 करोड़, कोर्ट ने मोदी सरकार और पुलिस को भेजा नोटिस

जांच टीम उस लाइब्रेरी में गई जहां छात्रों पर लाठी बरसाते हुए वीडियो सामने आया है। लाइब्रेरी के अंदर वीडियोग्राफी भी की गई, ताकि पुलिस की क्रूरता वाले वीडियो से मिलान की जा सके।

वहीं, हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर लाठीचार्ज में दोनों पैरों से चोटिल होने वाले छात्र मुजीब का बयान दर्ज किए गए। मुजीब ने कोर्ट में याचिका दाखिल कर दो करोड़ रुपये का मुआवजा मांगा है।

इसके अलावा जामिया के दूसरे छात्रों से भी पूछताछ कर साक्ष्यों को जुटाने का प्रयास किया है। इस दौरान जांच टीम प्राक्टर कार्यालय भी गई, जहां आधा घंटा बैठने के बाद टीम कैंपस से निकल गई।

ये भी पढ़ें…जामिया हिंसा पर बड़ा खुलासा, जिस छात्र को लगी थी गोली वही निकला ‘मास्टरमाइंड’