अलर्ट! अब इस बड़े बैंक पर मंडरा रहा खतरा, हालात बुरे-अब क्या होगा?

देश में सरकारी बैंक SBI के बाद सबसे ज्यादा चर्चित प्राइवेट बैंकों में से एक YES बैंक को लेकर ये खबर आ रही है। RBI की सख्ती, YES बैंक पर छुपी नहीं है।

नई दिल्ली: देश में सरकारी बैंक SBI के बाद सबसे ज्यादा चर्चित प्राइवेट बैंकों में से एक YES बैंक को लेकर ये खबर आ रही है। RBI की सख्ती, YES बैंक पर छुपी नहीं है। वैसे तो, बैंक पर RBI को गुमराह करने का आरोप लगा। इसका नतीजा यह हुआ कि RBI ने YES बैंक के चेयरमैन राणा कपूर को पद से जबरन हटा दिया।

केंद्रीय बैंक ने नियमों के उल्लं घन मामले में 1 करोड़ रुपए का जुर्माना भी लगाया है। यस बैंक की तरह अब प्राइवेट सेक्टोर के लक्ष्मी विलास बैंक पर भी RBI सख्ती बढ़ा दी है। ऐसा बताया जा रहा है कि बीते कुछ दिनों के घटनाक्रम को देखें तो लक्ष्मील विलास बैंक में कुछ ठीक नहीं चल रहा है…

ये भी देखें:पश्चिम बंगाल में हिंदू परिवार की हुई हत्या के विरोध में प्रदर्शन करते बजरंग दल के कार्यकर्ता

1 करोड़ का जुर्माना

RBI ने लक्ष्मी विलास बैंक पर 1 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है। RBI की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार लक्ष्मी विलास बैंक पर यह जुर्माना आय पहचान और संपत्ति वर्गीकरण (आईआरएसी) से जुड़े मामले में लगाया गया है। आरोप है कि इस बैंक ने मामले में RBI के नियमों का उल्लंघन किया है।

पीसीए फ्रेमवर्क में डाला

RBI ने सितंबर महीने में लक्ष्मी विलास बैंक को प्रॉम्प्ट करेक्टिव एक्शन (PCA) फ्रेमवर्क में डाल दिया। अधिक मात्रा में फंसे कर्ज, जोखिम प्रबंधन के लिए पर्याप्त पूंजी की कमी और लगतार दो साल संपत्तियों पर नेगेटिव रिटर्न को देखते हुए RBI ने ये कार्रवाई की थी। इसका मतलब यह हुआ कि लक्ष्मीय विलास बैंक न तो नए कर्ज दे सकता है और न ही नई ब्रांच खोल सकता है। RBI ने यह कार्रवाई रैलिगेयर फिन्वेस्ट लिमिटेड (RFL) के आरोप पर लगाया है। दोष के अनुसार बैंक ने RFLके 790 करोड़ रुपये के एफडी में हेराफेरी की है।

शेयर भाव में गिरावट

इन हालातों में लक्ष्मी विलास बैंक के शेयर भाव में लगातार गिरावट देखने को मिल रही है। सिर्फ 6 महीने में बैंक का शेयर भाव 98 रुपये के स्त र से लुढ़क कर 22 रुपये पर आ गया है। इसका मतलब यह हुआ कि शेयर के भाव में 75 रुपये से अधिक की गिरावट आई है। वर्तमान में बैंक का मार्केट कैप सिर्फ 742।45 करोड़ रुपये रह गया है।

ये भी देखें:WorldMathematicsDay: जारी हुआ विद्या बालन की मूवी ‘शकुंतला देवी’ का टीजर

इनकम घटा तो नुकसान बढ़ा

लक्ष्मीा विलास के इनकम और नेट प्रॉफिट या लॉस की बात करें तो दोनों में ही लगातार गिरावट आई है। 31 मार्च 2019 तक बैंक का नेट लॉस यानी नुकसान बढ़कर 894 करोड़ रुपए हो गया है। इससे पहले 31 मार्च 2018 तक बैंक का नेट लॉस 585 करोड़ रुपए था। वहीं बैंक का टोटल इनकम भी कम हुआ है। 31 मार्च 2018 तक टोटल इनकम 3 हजार 388 करोड़ रुपए था जो घटकर 3 हजार 90 करोड़ रह गया है।

आपको बता दें कि साल 1926 में लक्ष्मील विलास बैंक वजूद में आया लेकिन इसे RBI से 1958 में लाइसेंस मिला। वहीं साल 1974 से बैंक के ब्रांच का विस्तामर शुरू हुआ। वर्तमान में लक्ष्मीो विलास बैंक के ब्रांच और फाइनेंशियल सेंटर आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल के अलावा तीन महानगर- दिल्ली्, मुंबई और कोलकाता में मौजूद हैं।

ये भी देखें:रूखी त्वचा को ऐसे कहिए बाय-बाय, घरेलू उपाय से पाएं ग्लोइंग स्किन

YES बैंक की भी हालत ठीक नहीं है

अभी की बात करें तो यस बैंक का हाल लक्ष्मी विलास बैंक की तरह दिख रहा है। आपको बता दें कि करीब 15 साल पहले शुरू हुआ यस बैंक आज संकट के दौर से गुजर रहा है। सिर्फ एक साल में यस बैंक के निवेशकों को 90 फीसदी से अधिक का नुकसान हो गया है। वहीं शेयर भी 400 रुपए से घट कर 40 रुपए के स्तरर पर कारोबार कर रहा है। बैंक के मार्केट कैप में भी 70 हजार करोड़ रुपए से अधिक की गिरावट आई है।