सोनम वांगचुक को मिला देशभर के व्यापारियों का समर्थन, किया ये बड़ा एलान

फिल्म 3 इडियट्स में फुंगसुक वांगडू का किरदार सोनम वांगचुक से ही प्रेरित था। सोनम वांगचुक ने कुछ दिनों पहले लद्दाख से यह संदेश भेजा था कि चीन के सामानों का बहिष्कार करना बहुत जरूरी है। वांगचुक का कहना है कि चीन को बुलेट पावर के अलावा वॉलेट पावर से भी हराना जरूरी है।

अंशुमान तिवारी

नई दिल्ली। रियल फुंगसुक वांगडू यानी सोनम वांगचुक की चीन के सामानों की बहिष्कार करने की अपील को भारी समर्थन मिला है। देशभर में व्यापारियों के महासंघ कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स एसोसिएशन (सीएआईटी) ने सोनम वांगचुक की इस अपील का समर्थन करते हुए कहा है कि हम उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं।

फिल्म 3 इडियट्स में फुंगसुक वांगडू का किरदार सोनम वांगचुक से ही प्रेरित था। सोनम वांगचुक ने कुछ दिनों पहले लद्दाख से यह संदेश भेजा था कि चीन के सामानों का बहिष्कार करना बहुत जरूरी है। वांगचुक का कहना है कि चीन को बुलेट पावर के अलावा वॉलेट पावर से भी हराना जरूरी है।

वांगचुक की अपील को पूरा समर्थन

अब व्यापारियों के महासंघ ने वांगचुक की इस अपील का समर्थन करने का एलान किया है। सीआईएटी के अध्यक्ष बीसी भरतिया ने कहा कि हम पांच साल से चीनी सामानों के बहिष्कार करने की मुहिम चला रहे हैं। होली के मौके पर भी हमने देश के 200 शहरों में चीनी सामानों की होली जलाई थी। हम सोनम वांगचुक के संदेश समर्थन करते हैं और उनकी मुहिम में कंधे से कंधा मिलाकर साथ खड़े हैं। उन्होंने कहा कि हमें इस बात की पूरी जानकारी है कि चीन को आर्थिक रूप से नुकसान पहुंचाने का कितना महत्व है।

चीनी सामानों के बहिष्कार के लिए आगे आएं

व्यापारियों के महासंघ सीआईएटी के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि देश के लोगों को चीन के सामानों का बहिष्कार करने के लिए आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमने 3000 ऐसे सामानों की सूची बनाई है जिन्हें भारतीय प्रोडक्ट्स से रिप्लेस किया जाना चाहिए। अच्छी बात यह है कि भारत में इसका रिप्लेसमेंट भी मौजूद है। उन्होंने कहा कि हम इस कैटेगरी में और भी सामानों को जोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि महासंघ व्यापारियों को यह समझाने में जुटा है कि चीन से आयात पूरी तरह बंद कर दिया जाए और देसी सामानों की बिक्री ज्यादा की जाए।

ये भी पढ़ें- माइक्रोसॉफ्ट ने इंसानों का काम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को सौंपा

मैन्युफैक्चरर्स को भी करनी होगी मदद

देशभर के सात करोड़ व्यापारियों के महासंघ सीएआईटी ने कहा की मैन्युफैक्चरर्स को भी इस मामले में मदद के लिए आगे आना चाहिए। उन्हें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि जब चीनी उत्पादों के बजाय भारतीय उत्पादों को प्राथमिकता मिलने लगे तो बाजार में भारतीय उत्पादों की किसी प्रकार की कमी नहीं होनी चाहिए। यदि मैन्युफैक्चरर्स इस काम में आगे आते हैं तो व्यापारियों की ओर से हम उन्हें भी भारतीय सामानों को प्रमोट करने का आश्वासन देते हैं।

मोदी की अपील पर करेंगे काम

महासंघ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वोकल फॉर लोकल की अपील में काफी दम है और हम इसे बढ़ावा देने के लिए तैयार हैं। लेकिन सरकार को भी इस मामले में मदद करने के लिए आगे आना होगा और इज ऑफ डूइंग बिजनेस को बढ़ावा देना होगा। ऐसा करने पर ही आत्मनिर्भरता की ओर कदम बढ़ाया जा सकता है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।