×

माइक्रोसॉफ्ट ने इंसानों का काम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को सौंपा

दरअसल माइक्रोसॉफ्ट कई महीनों से अपने न्यूज़ बिजनेस में ए आई के इस्तेमाल की दिशा में काम कर रहा है। उसकी साइट्स में ओरिजिनल कंटेंट से कई गुना ज्यादा कंटेंट क्यूरेटेड यानी अन्य स्रोतों से जुटाया हुआ होता है और इस काम में ए.आई पहले से ही मदद दे रहा है।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 31 May 2020 3:51 PM GMT

माइक्रोसॉफ्ट ने इंसानों का काम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को सौंपा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

वाशिंगटन। विश्व की टॉप सॉफ्टवेयर कम्पनी माइक्रोसॉफ्ट ने अब इनसानों की जगह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से काम लेना शुरू कर दिया है। ये कदम माइक्रोसॉफ्ट की व्यापक योजना के तहत उठाया गया है जिसमें कंपनी अब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल अधिकाधिक करेगी। माइक्रोसॉफ्ट का कहना कि उसके फैसले का वर्तमान महामारी से कोई लेना देना नहीं है।

माइक्रोसॉफ्ट नेेेे दर्जनों पत्रकारों और एडिटोरियल स्टाफ को हटा दिया

इस योजना के तहत कंपनी ने माइक्रोसॉफ्ट न्यूज़ और एमएसएन से दर्जनों पत्रकारों और एडिटोरियल स्टाफ को हटा दिया गया है। अब एमएसएन वेब साइट पर दिए जाने वाले समाचारों और अन्य कंटेंट का चयन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से किया जाएगा।

ये भी पढ़ेंः GST काउंसिल की 40वीं बैठक इस दिन, टैक्स को लेकर हो सकता है ये फैसला

माइक्रोसॉफ्ट में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस करेगा इंसानों का काम

दरअसल एमएसइन साइट पर विभिन्न अन्य वेब साइट्स से कंटेंट ले कर प्रस्तुत किया जाता है। इसके अलावा माइक्रोसॉफ्ट एज ब्राउज़र और कंपनी के तमाम न्यूज़ एप्स में भी ये आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से किया जाएगा।

ये भी पढ़ेंः अंतरिक्ष में गया प्यारा सा डायनासोर

कंपनी का दावा- 50 देशों में उसके 800 से ज्यादा पत्रकार

माइक्रोसॉफ्ट 25 साल से ज्यादा समय से न्यूज़ के बिजनेस में है। एम एस एन की शुरुआत 1995 में की गयी थी। दो साल पहले माइक्रोसॉफ्ट न्यूज़ की लॉन्चिंग हुई थी और तब कंपनी ने दावा किया था कि 50 देशों में उसके 800 से ज्यादा पत्रकार हैं।

माइक्रोसॉफ्ट कई महीनों से न्यूज़ बिजनेस में एआई का कर रहा इस्तेमाल

दरअसल माइक्रोसॉफ्ट कई महीनों से अपने न्यूज़ बिजनेस में ए आई के इस्तेमाल की दिशा में काम कर रहा है। उसकी साइट्स में ओरिजिनल कंटेंट से कई गुना ज्यादा कंटेंट क्यूरेटेड यानी अन्य स्रोतों से जुटाया हुआ होता है और इस काम में ए.आई पहले से ही मदद दे रहा है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story