आज रुकेगा पूरा शहर: शाम साढ़े 5 बजे थम जाएगा सब कुछ, जानें क्या है वजह

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान के अनुसार सभी लोगों से शाम साढ़े पांच बजे खड़े होकर राज्य-गीत ‘वंदे उत्कल जननी’ गाने का अनुरोध किया गया है।

पूरा देश इस समय कोरोना वायरस से जूझ रहा है। देश में आए दिन कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ती जा रही है। ऐसे में ये एक चिंता का विषय है। लेकिन इस कठिन परिस्थिति में भी कोरोना वायरस से निपटने में मदद करने में जो लोग लगे हैं उनका अथक प्रयास अभी भी जारी है। ये वो ही कर्मी हैं जिन्हें पीएम मोदी ने कोरोना वारियर करार दिया है। ये कोरोना वारियर डॉक्टर्स, पुलिसकर्मी और मीडिया कर्मी हैं।

इसके आलावा भी कई लोग और हैं जो इस महामारी से निपटने में लगातार मदद और सहयोग कर रहे हैं। ऐसे में इनका प्रोत्साहन करना चाहिए। अब इसी क्रम में कोरोना से निपटने वाले कर्मियों के प्रति एकजुटता दिखाने के लिए ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने लोगों से आज शाम साढ़े पांच बजे राज्य गीत गाने की अपील की थी। जिसके मद्देनजर कलिंगा स्टेडियम समेत भुवनेश्वर में विभिन्न स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।

शाम साढ़े 5 बजे सभी गायेंगे राज्य-गीत

इस बात की जानकारी देते हुए अधिकारियों की ओर से बताया गया कि यूनिट 1 हाई स्कूल ग्राउंड, पुलिस आयुक्तालय भवन और भुवनेश्वर के मुख्य चौक-ए जी चौक पर कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान के अनुसार सभी लोगों से शाम साढ़े पांच बजे खड़े होकर राज्य-गीत ‘वंदे उत्कल जननी’ गाने का अनुरोध किया गया है।

ये भी पढ़ें-      बलिया में पक्षियों के शिकार को लेकर राजपूत और राजभर भिड़े

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने साढ़े पांच बजे वाहनों का परिचालन भी रोकने का अनुरोध किया है। उन्होंने देश के अन्य हिस्सों या विदेश में रह रहे ओडिशा के लोगों से भी गीत गाने की अपील की है। पूर्व तट रेलवे ने कहा है कि ओडिशा में रेलवे स्टेशनों समेत उसके सभी प्रतिष्ठानों पर गीत बजाया जाएगा।

पीएम मोदी भी कर चुके हैं कोरोना वारियर्स को सल्यूट

गौरतलब है कि इससे पहले पीएम मोदी ने भी कोरोना वारियर्स के प्रति अपना सम्मान और एकजुटता दिखाने के लिए 22 मार्च को जनता कर्फ्यू वाले दिन पूरे देश से अपील की थी कि सभी लोग शाम 5 बजे 5 मिनट के लिए आने-अपने घरों की छात पर खड़े होकर ताली या थाली या शंख बजाएंगे।

ये भी पढ़ें-     बाहर चल रही थी तड़ातड़ गोलियां, लोगों ने सोचा-पटाखे फूट रहे, दो की बिछ गई लाशें

वहीं इसके अलाबा भी कोरोना वारियर्स के सम्मान में केई जगह कार्यक्रम होते रहे हैं। और इसके अलावा कई जगह लोगों ने डॉक्टर्स और पुलिसकर्मी जैसे कोरोना वारियर्स को समानित करने के लिए और उनके प्रति अपना साथ और स्नेह दिखाने के लिए अलग अलग तरीकों उनके कार्य को सराहा है और उन्हें सैल्यूट किया है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App