×

TRENDING TAGS :

Election Result 2024

सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों पर लगाई रोक, यहां पढ़ें फैसले पर क्या बोलीं जनता?

कोर्ट द्वारा केंद्र सरकार के कृषि कानूनों पर रोक लगाए जाने के बाद किसानों के बीच ख़ुशी की लहर दौड़ पड़ी है। सोशल मीडिया पर भी लोग सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

Aditya Mishra
Published on: 12 Jan 2021 9:27 AM GMT
सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों पर लगाई रोक, यहां पढ़ें फैसले पर क्या बोलीं जनता?
X
सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों पर लगाई रोक, यहां पढ़ें फैसले पर क्या बोलीं जनता?

नई दिल्ली: केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीनों कृषि कानूनों के अमल पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी है। चीफ जस्टिस की अगुवाई वाली बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कानूनों पर रोक लगाई, साथ ही एक कमेटी का गठन कर दिया है। जो कि सरकार और किसानों के बीच कानूनों पर जारी विवाद को समझेगी और सर्वोच्च अदालत को रिपोर्ट सौंपेगी।

केंद्र सरकार ने जिन तीन कृषि कानूनों को पास किया, उसका लंबे वक्त से विरोध हो रहा था। दिल्ली की सीमाओं पर हजारों की संख्या में किसान आंदोलन कर रहे हैं, इसी के बाद मामला सुप्रीम कोर्ट के पास जा पहुंचा।

कोर्ट द्वारा केंद्र सरकार के कृषि कानूनों पर रोक लगाए जाने के बाद किसानों के बीच ख़ुशी की लहर दौड़ पड़ी है। सोशल मीडिया पर भी लोग सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। तो आइये जानते हैं कोर्ट के फैसले पर लोग क्या कहते हैं।

पहली बार केेंद्र को लगा सुप्रीम झटका, अब क्या करेगी मोदी सरकार

यहां पढ़ें किसने क्या कहा?

आरती वाजपेयी: सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित committee एक छलावा है। इसके सारे सदस्य पहले से ही किसान क़ानून को लागू करने के हक़ में हैं।



सुभम सोनी: किसान एकता को बधाई।

AGRI lAW

ऋत्विक पाण्डेय: सुप्रीम कोर्ट के फैसले से निराशा हुई है।

RITVIK

संजू पाण्डेय: सुप्रीम कोर्ट ने जजों ने सही निर्णय लिया है।



मिथलेश कुमार: सुप्रीम कोर्ट ने किसान कानूनों पर लगाई रोंक पर यह समाधान नहीं , कानून बापस होने चाहिए ।जय जबान जय किसान।



दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story