×

दीवार से निकला कंकाल: जेल में बंद था लड़का, ये देख हैरान रह गए सभी

सिविल अस्पताल के मेडिकल ऑफिसर डॉ. ओमकार चौधरी ने बताया कि मेरे 24 साल में इस प्रकार का यह पहला मामला है। शव को दीवार में चुनने की शहर में यह पहली घटना है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 6 Nov 2020 10:51 AM GMT

दीवार से निकला कंकाल: जेल में बंद था लड़का, ये देख हैरान रह गए सभी
X
दीवार से निकला कंकाल: जेल में बंद था लड़का, ये देख हैरान रह गए सभी
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

सूरत: सूरत के पांडेसरा में एक चौंकानें वाला हत्या का मामला सामने आया है। इस हत्या के मामले की जांच को पुलिस ने 5 साल में पूरा किया है। इस मामले में युवक की हत्या कर दिवार में चुनवा दिया गया था। गुरुवार को पुलिस ने आशापुरी सोसाइटी विभाग-3 के एक मकान की दीवार तोड़कर युवक का कंकाल बाहर निकाला। कंकाल को जांच के लिए फोरेंसिक लैब में भेज दिया गया। हत्या के आरोपी राजू बिहारी को गिरफ्तार कर लिया गया।

परिवार ने किशन को तलाशने की कोशिश ही नहीं

बता दें कि इस हत्या का आरोपी 30 से ज्यादा मामलों में शामिल रह चुका है। मृतक की पहचान खुशीनगर इलाके में रहने वाले किशन के रूप में की गई है। गुरुवार को जब पुलिस ने किशन का कंकाल बरामद किया तो परिवार वाले यहां आए और पता चला कि उन्होंने आज तक किशन को तलाशने की कोशिश ही नहीं की। परिवार के किसी सदस्य ने उसकी गुमशुदगी की शिकायत तक दर्ज नहीं करवाई थी। किशन भी कई गैर-कानूनी काम करता था। परिवारवालों ने सोचा कि वह जेल में होगा।

kishan

ये भी देखें: प्रदेश में सामाजिक समरसता को भंग करने की साजिशें ?

इसलिए की गयी थी हत्या

हत्या के आरोपी राजू बिहारी ने पूछताछ में बताया कि पांच साल पहले उसने किशन की हत्या करके शव को घर में सीढ़ी के नीचे खाली जगह में चुनवा दिया था। किशन की मुखबिरी के चलते मैं पकड़ा गया था। जेल से आने के बाद उसने किशन को अपने घर शराब पीने बुलाया। किशन भी पैरोल पर जेल से आया था। यहीं अपने चार साथियों के साथ मिलकर उसका गला घोंटकर हत्या कर दी। इसके बाद शव सीढ़ियों के नीचे चुन दिया।

ये भी देखें: प्याज मिलेगा सस्ता: कीमतें हो गई कम, जारी हुआ ये बड़ा आदेश

पुलिस ने हत्याकांड का पर्दाफाश किया

बता दें कि सिविल अस्पताल के मेडिकल ऑफिसर डॉ. ओमकार चौधरी ने बताया कि मेरे 24 साल में इस प्रकार का यह पहला मामला है। शव को दीवार में चुनने की शहर में यह पहली घटना है। पुलिस ने बड़ी सतर्कता से इस केस को सुलझाया है। अपराधी ने बहुत चालाकी से काम लिया था, ताकि पुलिस को कोई सबूत न मिले। इसके बावजूद । यह काबिले तारीफ है।

दो देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Newstrack

Newstrack

Next Story