कोरोना: देश के 14 राज्यों में फैले तबलीगी, 24 घंटे में सामने आए 336 नए मामले

देश में कोरोना वायरस और लॉकडाउन को लेकर स्‍वास्‍थ्‍य और गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को संयुक्‍त प्रेस कांफ्रेंस की। जिसमें कोरोना को लेकर जानकारी दी गई।

नई दिल्ली:  पूरे देश में कोरोना का कहर लगातार जारी है। आए दिन देश के विभिन्न कोनों से कोरोना से संक्रमित व्यक्ति की या उसके कहर से जान जाने की खबर आती रहती हैं। ऐसे में देश में कोरोना वायरस से निपटने और लॉकडाउन को लेकर स्‍वास्‍थ्‍य और गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को संयुक्‍त प्रेस कांफ्रेंस की। जिसमें कोरोना को लेकर जानकारी दी गई।

देश में अब तक 2301 कंफर्म केस

देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखते हुए आज शुक्रवार को स्‍वास्‍थ्‍य और गृह मंत्रालय ने एक साझा प्रेस कांफ्रेंस की। जिसमें देश में कोरोना के मामलों की ताजा जानकारी दी।

ये भी पढ़ें-  30 मिलियन दर्शकों तक पहुंचा newstrack.com, विश्वसनीयता पर लगी मुहर

इस मौक पर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि कल से आज तक कोराना वायरस के 336 अतिरिक्त मामले हमारे सामने आए हैं। कुल पुष्ट मामले 2301 हैं। इनमें 56 मौतें हुई हैं। इन 56 में से 12 की मौत कल हुई थी। अब तक कुल 157 मरीज ठीक हो चुके हैं।

तबलीगी जमात से बढ़े मामले

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि पिछले दो दिनों में तब्‍लीगी जमात से संबंधित 647 मामलों की पुष्टि हुई है। इसमें 14 राज्य यूपी, अंडमान और निकोबार, असम, दिल्ली, हिमाचल, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, झारखंड, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु तेलंगाना, उत्तराखंड शामिल हैं।

ये भी पढ़ें-  जौनपुर में कोरोना पीड़ितों की संख्या हुईं तीन, दो दिल्ली से आये तब्लीगी जमात शामिल 

इस राज्य में लाए गए 55 जमाती, 52 में कोरोना की पुष्टि से मचा हड़कंप

लव अग्रवाल ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने मरीजों और उनके परिवारों से अपील की है कि वे डॉक्टरों का सहयोग करें। उन्होंने डॉक्टरों और चिकित्सा कर्मचारियों के साथ दुर्व्यवहार पर भी चिंता व्यक्त की।

गृह मंत्रालय ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर

इस मौके पर गृह मंत्रालय की संयुक्‍त सचिव पुण्‍य सलिला श्रीवास्‍तव ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने स्वास्थ्य और काम करने वाले श्रमिकों पर हमले के मामलों में सख्त कार्रवाई करने और चिकित्सा बिरादरी को सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकारों को पत्र लिखा है।

ये भी पढ़ें- 30 मिलियन दर्शकों तक पहुंचा newstrack.com, विश्वसनीयता पर लगी मुहर

उन्‍होंने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्रालय के नियंत्रण कक्ष में सात हेल्पलाइन नंबर थे। अब हमने दो और हेल्पलाइन नंबर शुरू किए हैं – 1930 (अखिल भारतीय टोलफ्री नंबर) और 1944 (पूर्वोत्तर को समर्पित)।