जौनपुर में कोरोना पीड़ितों की संख्या हुईं तीन, दो दिल्ली से आये तब्लीगी जमात शामिल 

जिला प्रशासन ने लॉकडाउन का पालन कराने के लिए और भी शक्ति करते हुए जनता से अपील किया कि वह सोशल डिस्टेन्सिंग बनाये रखें।

जौनपुर: कोरोना संक्रमण को लेकर लॉकडाउन की अवधि में अब तक जनपद जौनपुर में तीन व्यक्ति कोरोना संक्रमण से संक्रमित पाये जाने पर जहां पूरा जनपद दहशत जदा है वहीं पर प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। इसके बाद से जिला प्रशासन ने लॉकडाउन का पालन कराने के लिए और भी शक्ति करते हुए जनता से अपील किया कि वह सोशल डिस्टेन्सिंग बनाये रखें। साथ ही जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने स्वास्थ्य विभाग एवं सीडीओ तथा विकास खण्ड से जुड़े अधिकारियों की टीम बनाकर हर एक उन गावों में जाकर लोगों की जांच का आदेश दिया जहां विदेशी अथवा बाहर से आने वाले रूके थे।

सऊदी अरब से आये युवक की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव

बता दें कि जनपद में सबसे पहले विगत 23 मार्च को सऊदी अरब से जौनपुर आने वाले शहर के मुहल्ला पिरोसोपुर निवासी मो. असहद नामक युवक को कोरोना पाजिटिव की रिपोर्ट आयी थी। उसी दिन जौनपुर को लॉकडाउन कर दिया गया था और मो. असहद को तत्काल जिला अस्पताल में दाखिल करा दिया गया। इसके बाद पूरा देश लाक डाऊन हो गया। तत्पश्चात 31 मार्च 2020 को जौनपुर में दिल्ली निजामुद्दीनु से मरकज जमात से वापस लौटे बड़ी संख्या में लोग पकड़े गये।

जिसमें 16 की संख्या में जमाती बेगमगंज मस्जिद से सरायख्वाजा पुलिस ने पकड़ा था जो मस्जिद में छिपे हुए थे। सभी के खून का सैम्पल लेकर जांच के लिए वाराणसी स्थित बीएचयू भेजा गया था वहां से रिपोर्ट आने के बाद दो जमाती कोरोना संक्रमित पाजिटिव की रिपोर्ट आयी। जैसा कि जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने खुद अपनी सरकारी विज्ञप्ति के जरिए जानकारी दी है। इन दोनों का नाम क्रमशः 1- इस्माइल 21 वर्ष निवासी बंगला देश, 2-यासीन अंसारी 68 साल निवासी रांची झारखंड है। दोनों को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है हलांकि निजामुद्दीन मरकज़ तबदीली जमातसे आकर छुपे सभी जमातियो को जिला प्रशासन ने क्वारंटाइन कर दिया है।

ये भी देखें: पीएम की अपील पर लालू के लाल का गजब रिएक्शन, जानिए क्या जलाने की दी सलाह

इन दोनों जमातियो की रिपोर्ट पाजिटिव आते ही सरकारी अमले में हड़कंप मच गया खबर वायरल होते ही जिले की आवाम दहशत में आ गयी है। हलांकि इसी दौरान जिला अस्पताल के सीएमएस डाक्टर अनिल शर्मा ने बताया कि 23 मार्च को अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित असहद की दुबारा जांच रिपोर्ट निगेटिव आ गयी है। यह सन्तोष जनक बात है।

जिलाधिकारी ने किया जनपद वासियों से सोशल डिस्टेन्सिंग रखने की अपील

मरकज तब्लीगी जमात में शामिल होने वाले दो लोगों को पाजिटिव की रिपोर्ट आते ही प्रशासन सक्रिय हो गया और जिलाधिकारीने जनपद वासियों से अपील किया कि वह शोसल डिस्टेन्सिंग बनाये रखें और प्रशासन के लोग लॉकडाउन का कड़ाई के साथ पालन कराये । साथ ही निर्देश जारी किया कि अनावश्यक रूप से सड़कों पर घूमने वालों को क्वारंटाइन किया जाये और वाहनों को सीज किया जाये। खुद इसकी पहल में जिलाधिकारी सड़क पर आ गये है।

बता दें कि दो नये कोरोना वायरस से संक्रमित मिलने के बाद जिला प्रशासन ने हर उन स्थानों, गांवो, परिवारों के लोगों का खून सैम्पल लेने और जांच करने का आदेश जारी किया जहाँ पर विदेश सहित बाहर मुम्बई, दिल्ली, कोलकाता आदि स्थानों से आनें वाले गये थे और लोगों से मिले थे। जिलाधिकारी ने इस कार्य हेतु एक टीम गठित किया है जिसमें सीएमओ राम जी पाण्डेय, सीडीओ अनुपम शुक्ला के साथ विकास खण्ड के खण्ड विकास अधिकारी एवं स्वास्थ्य विभाग डाक्टर को रखा गया है साथ संबंधित थाने के थानाध्यक्ष को लगाया गया है।

ये भी देखें: नौ देश बने मिसाल ऐसे जीत ली कोरोना के खिलाफ बड़ी जंग

पकड़े जाने पर अपराधिक धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया जायेगा

जिलाधिकारी ने अपने आदेश में साफ कहा है कि जिनसे विदेशियों अथवा दिल्ली तब्लीगी जमात में शामिल होने वालो से मिलने की पुष्टि हो ऐसे लोगों को कम से कम 14 दिनों तक के लिए क्वारंटाइन किया जाये इसका निरीक्षण भी थाना प्रभारी करते रहेंगे। जिलाधिकारी इस बात को लगातार शोसल मीडिया पर वायरल कर रहे हैं कि विदेशी अथवा बाहर से आने वालों की सूचना तत्काल जिला प्रशासन को दिया जाये अन्यथा पकड़े जाने पर अपराधिक धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया जायेगा।

यहां यह भी बता दें कि अब तक होम क्वारंटाइन का पालन न करने वाले 11लोगों के विरूद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार अब जनपद जौनपुर में 14 हजार लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है। ऐसे परिवार वालों को अलग रहने की हिदायत दी गयी है इसकी निगरानी भी करायी जा रही है। पूरे जनपद में 9शेल्टर होम बनाये गये है जहां पर 835 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है।