टीचर ने की हैवानियत की हदें पार, इस छोटी सी गलती पर दिव्यांग को दी तालिबानी सजा

राजस्थान के बूंदी में सात वर्षीय दिव्यांग बच्चे को उसकी क्लास टीचर ने छड़ी से बेरहमी से पीटा। यही नहीं, जब टीचर का मन इतने से नहीं भरा तो उन्होंने बच्चे…

जयपुर।  राजस्थान के बूंदी में सात वर्षीय दिव्यांग बच्चे को उसकी क्लास टीचर ने छड़ी से बेरहमी से पीटा। यही नहीं, जब टीचर का मन इतने से नहीं भरा तो उन्होंने बच्चे को वॉटर टैंक में फेंक दिया। जिस गलती के लिए बच्चे को इतनी बड़ी सजा दी गई वह सुनकर तो आपके भी होश फाख्ता हो जाएंगे।

ये भी पढ़ें- खुदाई में मिली ऐसी चीजों को देख हैरान रह गये लोग, सरकार को भेजी रिपोर्ट

दरअसल, बच्चे ने अपनी टेक्स्टबुक में कवर नहीं चढ़ाया था, यह देखकर टीचर का पारा चढ़ गया था। टीचर ने ही बच्चे को वॉटर टैंक से बाहर निकाला। लड़के के माता-पिता ने गुरुवार शाम इस मामले की शिकायत की, जिस पर अडिशनल डिस्ट्रिक्ट मैजिस्ट्रेट (एडीएम) ने जांच के लिए आश्वस्त किया। पुलिस ने घटना को लेकर मामले की जांच भी शुरू कर दी है।

टीचर ने  छात्र को बुरी तरह से पिटाई की

लड़के के पिता सोनू सिंह ने कहा, ‘जब हमारा बेटा दोपहर के 2 बजे घर पहुंचा तो उसकी यूनिफॉर्म और जूते पानी से भीगे हुए थे। जब उसकी मां ने इसके बारे में पूछा तो बच्चे ने बताया कि किताबों में कवर न चढ़ाने की वजह से देवपुरा स्थित सेंट्रल अकादमी की क्लास टीचर ने उसकी बुरी तरह से पिटाई की।’

 

 

ये भी पढ़ें- जामिया फायरिंग पर बोले गुलाम नबी आजाद- सरकार की सहमति से हो रहा यह सब

बच्चे ने माता-पिता को बताया, ‘महिमा मैडम ने पहले मेरे हाथ पकड़कर मुझे डंडे से पीटा। फिर उन्होंने मुझे पानी की टंकी में फेंक दिया।’ लड़के के पिता ने कहा, ‘उसी टीचर ने फिर बेटे को वॉटर टैंक से बाहर निकाला।’ उन्होंने कहा, ‘महज एक छोटी सी गलती के लिए इतनी बेरहमी से पिटाई को कतई स्वीकार नहीं किया जा सकता है।’

घटना को लेकर जांच की जा रही है

इस मामले की सदर पुलिस स्टेशन और एडीएम से शिकायत की गई है। सदर पुलिस स्टेशन के ड्यूटी ऑफिसर एएसआई दुर्गाशंकर गौतम कहते हैं, ‘गुरुवार शाम इस मामले की शिकायत हमें मिली है। पूरी घटना को लेकर जांच की जा रही है।’

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App