मंदिर का महादान: संकट में देश की झोली में डाली 23 संपत्तियां, सबसे अमीरों में है नाम

देश की अर्थव्यवस्था को इस कोरोना महामारी ने बुरी तरह से प्रभावित किया है। ऐसे में देश के भले के लिए दुनिया का सबसे अमीर मंदिर तिरुपति देवस्थानम सामने आया है।

नई दिल्ली: देश की अर्थव्यवस्था को इस कोरोना महामारी ने बुरी तरह से प्रभावित किया है। ऐसे में देश के भले के लिए दुनिया का सबसे अमीर मंदिर तिरुपति देवस्थानम सामने आया है। जीं हां इस संकट के दौर में तिरुपति देवस्थानम मंदिर प्रशासन ने भक्तों से दान में मिली 23 संपत्तियां नीलाम करने का अहम फैसला लिया है। बता दें, ये सभी संपत्तियां तमिलनाडु में हैं। इसके साथ ही मंदिर का प्रबंधन करने वाले तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम बोर्ड ने इन संपत्तियों की नीलामी करने के लिए दो समितियां भी बनाई हैं। मंदिर की इन 23 संपत्तियों में तमिलनाडु के विभिन्न जिलों में स्थित मकान और खेती की जमीन भी सम्मिलित है।

ये भी पढ़ें… जम्मू-कश्मीर और केरल से आई बड़ी खबर, यहाँ आज मना रहे लोग ईद

मंदिर की आय का यह प्रमुख स्रोत

मंदिर की इन संपत्तियों की नीलामी राशि डेढ़ करोड़ रुपये रखी गई है। मंदिर प्रबंधन के मुताबिक, नियमित खर्चों के अलावा सुरक्षा और कर्मचारियों को वेतन देने के लिए करीब 125 करोड़ रुपये की आवश्यकता होती है।

24 मार्च से चल रहे लॉकडाउन के कारण मंदिर को केवल हुंडी से होने वाली 400 करोड़ रुपये की आय का नुकसान हुआ है। मंदिर की आय का यह प्रमुख स्रोत है जो भक्तों द्वारा चढ़ाए गए दान के रूप में प्राप्त होते हैं।

ये भी पढ़ें… मुफ्त में चलाए ट्रेन: गुजरात HC ने प्रवासियों को राहत देने के लिए कही ये बात

9 टन सोना और 14 हजार करोड़ की एफडी

ऐसे में मंदिर समिति को कर्मचारियों की सैलरी और मंदिर से जुड़े अन्य खर्च पूरे करने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन मंदिर के पास लगभग 9 टन सोना और 14 हजार करोड़ की एफडी है लेकिन समिति इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहती।

ये भी पढ़ेंः CM बघेल को गालियां देने वाला गिरफ्तार, सोनिया के लिए कही थी ये बात

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।