Top

श्रीनगर में आतंकी हमलाः कुछ दूरी पर विदेशी राजनयिकों का डेरा, सुरक्षाबल अलर्ट

जम्मू कश्मीर में 20 देशों के राजनयिक दौरे पर हैं। इस बीच बुधवार को श्रीनगर में आतंकी हमला हो गया। बता दें कि जिस जगह पर आतंकियों ने फायरिंग की, विदेशी राजनयिक वहां से एक किलोमीटर की दूरी पर ठहरे हुए हैं।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 17 Feb 2021 4:43 PM GMT

श्रीनगर में आतंकी हमलाः कुछ दूरी पर विदेशी राजनयिकों का डेरा, सुरक्षाबल अलर्ट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर में 20 देशों के राजनयिक दौरे पर हैं। इस बीच बुधवार को श्रीनगर में आतंकी हमला हो गया। बता दें कि जिस जगह पर आतंकियों ने फायरिंग की, विदेशी राजनयिक वहां से एक किलोमीटर की दूरी पर ठहरे हुए हैं। इस हमले में एक शख्स भी घायल हो गया। फ़िलहाल सुरक्षाबल अलर्ट पर है और पूरे इलाके में आंतकियों की तलाश के संदिग्ध गतिविधियों की निगरानी कर रहा है।

विदेशी राजनयिकों के दौरे के दौरान श्रीनगर में आतंकी हमला

दरअसल, आतंकी लगातार जम्मू कश्मीर का माहौल खराब करने के लिए आतंकी हमले करने में जुटे हुए हैं। इसी कड़ी में बुधवार को श्रीनगर के सोनवार इलाके में आतंकियों ने फायरिंग कर दी। इस फायरिंग में डल झील के पास कृष्णा ढाबे का एक कर्मचारी घायल हो गया।

ये भी पढ़ेँ- पकड़े गए 19 आतंकी: अलग-अलग जगहों से रच रहे थे साजिश, एजेंसी ने किया ये दावा

एक किलोमीटर दूर ठहरे है राजनयिक, फायरिंग से हड़कंप

हमले से सुरक्षाबलों में भी हड़कंप मच गया, वजह थी विदेशी राजनयिकों की सुरक्षा। सभी विदेशी राजनयिक आज ही श्रीनगर पहुंचे है और हमले वाली जगह के करीब ही ठहरे हुए हैं। मुस्लिम जांबाज फोर्स J&K ने हमले की जिम्मेदारी ली है। फ़िलहाल सुरक्षाबलों ने मोर्चा संभाल लिया है। पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी है। वहीं आज ही पुलवामा के अवंतीपोरा इलाके में सुरक्षाबलों ने IED भी बरामद किया है।

TERROR CAMP

सुरक्षाबलों ने संभाला मोर्चा

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में आज फिर यूरोपीय संघ का एक प्रतिनिधि समूह दौरे पर पहुंचा है। विदेशी राजनयिकों के इस समूह में यूरोप और अफ्रीका के करीब 20 राजनयिक शामिल हैं। अपने दो दिवसीय दौरे के दौरान यूरोपीय संघ का यह दल 5 अगस्त 2019 को अनुच्छेद 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर के विकास कार्यों के बारे में जानकारी हासिल कर रहा है।

20 देशों के रायनयिक दो दिवसीय दौरे पर

बता दें कि राजनयिकों के डेलीगेशन में ब्राजील, क्यूबा, एस्टोनिया, फिनलैंड, ताजिकिस्तान, फ्रांस, आयरलैंड, नीदरलैंड, पुर्तगाल, यूरोपीय संघ,बांग्लादेश, मलावी, एरिट्रिया, कोटे डी आइवर, घाना, सेजल, स्वेदान, इटली, मलेशिया, बोलीविया, बेल्जियम और किर्गिस्तान के दूत शामिल हैं।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story