चारा घोटाले में आज लालू की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, बाहर निकलने में फंसा पेंच

बिहार आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव की चारा घोटाले में जमानत याचिका पर आज झारखंड उच्च न्यायालय में सुनवाई होने वाली है. न्यायाधीश अपरेश कुमार सिंह की अदालत में सुनवाई के लिए याचिका सूचीबद्ध है. आज लालू प्रसाद की ओर से जमानत पर पक्ष रखा जाएगा.

नई दिल्ली: बिहार आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव की चारा घोटाले में जमानत याचिका पर आज झारखंड उच्च न्यायालय में सुनवाई होने वाली है. न्यायाधीश अपरेश कुमार सिंह की अदालत में सुनवाई के लिए याचिका सूचीबद्ध है. आज लालू प्रसाद की ओर से जमानत पर पक्ष रखा जाएगा. पिछली सुनवाई में कोर्ट ने इसके लिए उनके वकील को एक हफ्ते का समय दिया था. इससे पहले सीबीआई ने याचिका पर अपना जवाब कोर्ट में दाखिल कर दिया. पूर्व सीएम की ओर से देवघर कोषागार मामले में बेल लेने की कोशिश हो रही है.

ये भी देखें:World Cup 2019: विराट ने हार के बाद अभी दिया ये बड़ा बयान

बाहर निकलने में फंसा है ये पेंच

देवघर कोषागार मामले में आज अगर लालू यादव को बेल मिली भी गई, तो भी वह जेल से बाहर नहीं निकल पाएंगे. जेल से बाहर निकलने के लिए उन्हें अन्य दो मामलों में भी बेल लेना होगा. हालांकि अगर उन्हें देवघर मामले में बेल मिल जाती है, तो थोड़ी राहत जरूर मिलेगी. आगे अन्य 2 मामलों में बेल के लिए रास्ता आसान हो जाएगा.

चारा घोटाले में दोषी ठहराए जाने के बाद 23 दिसंबर, 2017 से लालू प्रसाद रांची के होटवार जेल में बंद हैं.

ये भी देखें:विधायक को तमंचे पे डिस्को पड़ गया भारी, हो गई कार्यवाई

आधी सजा काटने के आधार पर बेल की मांग

बता दें कि लालू यादव की ओर से देवघर कोषागार मामले में जमानत याचिका दायर की गई है. इस मामले में सीबीआई की अदालत ने उन्हें साढ़े तीन साल की सजा दी है. इसमें से आधी से अधिक सजा वह काट चुके हैं. इसी को आधार बनाकर लालू प्रसाद की ओर से जमानत की मांग की गई है. चारा घोटाले में दोषी ठहराए जाने के बाद 23 दिसंबर, 2017 से वह रांची के होटवार जेल में बंद हैं. फिलहाल जेल प्रशासन की देख रेख में रांची के रिम्स में उनका इलाज चल रहा है. पूर्व सीएम कई बीमारियों से जुझ रहे हैं.