चीन दहशत में: भारत लाया अमेरिकी असॉल्ट राइफल, झटके में करेगी काम-तमाम

देश एक तरफ कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है, तो दूसरी तरफ चीन का मुद्दा भी जोरों पर है। ऐसे में अच्छी खबर आई है। ये खबर है कि भारतीय सेना अमेरिका से असॉल्ट रायफल्स की दूसरी खेप भी मंगवा रही है।

नई दिल्ली। देश एक तरफ कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है, तो दूसरी तरफ चीन का मुद्दा भी जोरों पर है। ऐसे में अच्छी खबर आई है। ये खबर है कि भारतीय सेना अमेरिका से असॉल्ट रायफल्स की दूसरी खेप भी मंगवा रही है। बता दें, इससे पहले भी सेना को एक खेप मिल चुकी हैा। वही अब फिर से 72 हजार एसआईजी 716 असॉल्ट राइफल का ऑर्डर दिया जा चुका है। इसे देखते हुए ये उम्मीद बढ़ी है कि चीन के आक्रामण होने पर हमारे जवानों के पास भी उनसे लड़ने के लिए  औजार, हथियार और सामान होंगें।

ये भी पढ़ें… कार बनी बवाल: पत्नी चढ़ी बोनट पर, पति की हालत हुई खराब

हमला ज्यादा घातक

देश ने बीते साल पुलवामा हमले के बाद इसी रायफल की पहली खेप का ऑर्डर अमेरिका को दिया गया था। बता दें, असॉल्ट रायफल्स हैंडल करने में ज्यादा आसान और ज्यादा बड़े हथियार होती हैं। इससे हमला ज्यादा घातक हो जाता है।

साथ ही अमेरिका और यूरोपियन देशों की सेना इसी रायफल का इस्तेमाल कर रही है। ये रायफल लंबी दूरी के साथ-साथ पास के टारगेट पर भी उतनी ही सक्षमता से वार करती है। ये उन सारी आधुनिक तकनीकों से लैस है, जिनकी लड़ाई के दौरान जरूरत पड़ती है। युध्द के लिए इनको काफी सक्षम माना जाता है।

ये भी पढ़ें…अमरनाथ यात्रा को रोकने की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

पड़ोसी देशों से बढ़ते तनाव

जानकारी के लिए बता दें, कि इंसास रायफल में 5.56×45 कारतूस लगते हैं, जबकि असॉल्ट में लगने वाले कारतूस इससे काफी ज्यादा ताकतवर होते हैं। अमेरिका में हथियार बनाने वाली कंपनी सिग सॉयर इन रायफलों की आपूर्ति करने वाली है।

वहीं पड़ोसी देशों से बढ़ते तनाव के बीच माना जा रहा है कि जल्दी से जल्दी इन रायफल्स की आपूर्ति हो सकेगी। यही कारण है कि इनकी खरीदी फास्ट-ट्रैक पर्चेज (FTP) के जरिए हो रही है।

ये भी पढ़ें…अमिताभ की आई रिपोर्ट: हॉस्पिटल ने दी जानकारी, अब फैंस की दुआ की़ जरूरत

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें