ये खूंखार आतंकी मारा गया: अब है इनकी बारी, सेना से डरा पाकिस्तान

भारतीय सेना ने कश्मीर में हमला कर रहे आतंकियों को धूल चटाने में कई कसर नहीं छोड़ी है। इसके साथ ही सेना ने बड़ी खुशखबरी दी है। सूत्रों से मिली रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि घाटी में जाकिर मूसा के गिरोह का अंत हो गया है।

नई दिल्ली : भारतीय सेना ने कश्मीर में हमला कर रहे आतंकियों को धूल चटाने में कई कसर नहीं छोड़ी है। इसके साथ ही सेना ने बड़ी खुशखबरी दी है। सूत्रों से मिली रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि घाटी में जाकिर मूसा के गिरोह का अंत हो गया है। सुरक्षाबलों  ने मंगलवार को जाकिर मूसा के मारे जाने के बाद अल कायदा से जुड़े संगठन अंसार गजवत उल हिंद की कमान संभालने वाले आतंकी हामिद ललहारी (लोन) को भी मौत के घाट उतार दिया है। असल में ‘ऑपरेशन ऑलआउट’ के तहत सेना की रणनीति है कि आतंकी कमांडर चुने जाने या चर्चा में आते ही जल्द से जल्द टॉप आतंकियों को खत्म कर दिया जाए।

यह भी देखें… बेशर्म पाक नही आ रहा बाज, गोलाबारी में 1 जवान शहीद, भारत का मुंहतोड़ जवाब

आतंकी संगठन का मुखिया

इसके साथ सेना ने उसके साथ दो अन्‍य आतंकियों को भी मार गिराया है। मारे जाने वाले आतंकियों की पहचान नावीद टाक और जुनैद भट के तौर पर हुई है। जाकिर मूसा अंसार गजवात उल हिंद आतंकी संगठन का मुखिया था, जिसकी मौत के बाद अब्दुल हमीद ललहारी ने कमान संभाल ली थी।

 

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के नापाक हरकतों का अंत करने के लिए भारतीय सेना आतंकवाद के आकाओं का चुन-चुनकर सफाया कर रही है। सुरक्षाबलों को मुठभेड़ से भारी मात्रा में हथियार और गोलाबारूद मिला है।

घाटी में केंद्र सरकार के द्वारा लिए गए फैसले के बाद से ये आतंकी ग्रामीणों और पंच-सरपंचों को डरा-धमका रहे थे। राज्य पुलिस के विशेष अभियान दल के जवानों ने सेना और सीआरपीएफ के जवानों के साथ मिलकर आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन को अंजाम दिया।

आगे राज्य पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह ने बताया कि ये आतंकी अगस्त में त्राल के ऊपरी क्षेत्र में गुज्जर समुदाय के दो लोगों को अगवा करके मौत के घाट उतारने में भी शामिल थे।

यह भी देखें… लखनऊ: सीएम योगी आज कालीचरण पीजी कॉलेज के नए भवन का करेंगे लोकार्पण

अबकी बार है इनका नंबर

इसके साथ ही डोडा जिला पुलिस ने दो आतंकियों की तस्‍वीर जारी की है। पुलिस ने इन आतंकियों की जानकारी देने वालों को 15 लाख रुपये इनाम देने का भी ऐलान किया है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस को मंगलवार दोपहर को सूचना मिली थी कि जैश के 3 आतंकी त्राल के राजपोरा में काजीनाग आए हैं। इसके बाद दोपहर 3 बजे आतंकियों के खिलाफ अभियान शुरू किया गया।

इसके बाद सुरक्षाबलों ने आतंकियों के ठिकाने की घेराबंदी की। जवान तलाशी लेते हुए आगे बढ़ ही रहे थे कि एक मकान में छिपे आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी और भागने की कोशिशें की। इसके बाद जवानों ने जवाबी कार्रवाई करते हुए 3 आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया।

यह भी देखें… कमलेश तिवारी मर्डर: मास्टरमाइंड रशीद पठान ने दोनों आरोपियों को 70 हजार रुपये दिए