इस मंत्री ने ‘तीन तलाक कानून’ को बताया इस्लाम पर हमला, कहा- नहीं मानेंगे

तीन तलाक बिल को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंजूरी दे दी है। अब इस मंजूरी के बाद देश में तीन तलाक कानून 19 सितबंर, 2018 से लागू हो गया। इस बीच पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी सरकार के मंत्री ने इसे लेकर विवादस्पद बयान दे दिया है।

कोलकाता: तीन तलाक बिल को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंजूरी दे दी है। अब इस मंजूरी के बाद देश में तीन तलाक कानून 19 सितबंर, 2018 से लागू हो गया। इस बीच पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी सरकार के मंत्री ने इसे लेकर विवादस्पद बयान दे दिया है।

यह भी पढ़ें…भारत में चोरी-छुपे प्रवेश कर रहे थे इस देश के पूर्व उपराष्‍ट्रपति, हुए गिरफ्तार

ममता सरकार में मंत्री सिद्दिकुल्लाह चौधरी का कहना है कि तीन तलाक बिल पास होना दुख का विषय है। यह इस्लाम पर हमला है। चौधरी जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष भी हैं। सिद्दिकुल्लाह चौधरी ने कहा कि हम तीन तलाक पर बने कानून को नहीं स्वीकार करेंगे।

सीएम ममता के साथ सिद्दिकुल्लाह चौधरी
सीएम ममता के साथ सिद्दिकुल्लाह चौधरी

चौधरी ने कहा कि जब इस पर केंद्रीय कमिटी की मीटिंग होगी तो हम आगे की कार्रवाई पर विचार करेंगे। पश्चिम बंगाल के मंत्री के इस बयान से आने वाले दिनों में राजनीतिक जंग छिड़ सकती है। खासतौर पर पश्चिम बंगाल में बीजेपी के हमलावर रुख का सामना कर रहीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को इस मुद्दे पर एक बार फिर मुसीबत उठानी पड़ सकती है।

यह भी पढ़ें…अयोध्या केस: मध्यस्थता पैनल ने SC को सौंपी अंतिम रिपोर्ट, कल होगी सुनवाई

बता दें मंगलवार को राज्यसभा में तीन तलाक के खिलाफ विधेयक पास हो गया था। राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद यह देश में कानून के तौर पर लागू हो गया है। नए बने कानून में तीन तलाक बोलने के अपराधी को तीन साल की सजा का प्रावधान है। यही नहीं इसे संज्ञेय अपराध की श्रेणी में रखा गया है।