इस लिस्ट में है देश टॉप-10 पुलिस स्टेशन, जानिए यूपी-बिहार है इसमें शामिल

देश आए दिन महिलाओं के साथ हो रही घटनाओं से लोगों में आक्रोश है। महिलाओं के ख़िलाफ़ बढ़ते अपराध के ग्राफ को लोग पुलिस प्रशासन के काम काज पर सवाल खड़े कर रहे है । गृह मंत्रालय ने देश के 10 पुलिस स्टेशनों की लिस्ट जारी की है।

Published by suman Published: December 6, 2019 | 9:52 pm

दिल्ली:  देश आए दिन महिलाओं के साथ हो रही घटनाओं से लोगों में आक्रोश है। महिलाओं के ख़िलाफ़ बढ़ते अपराध के ग्राफ को लोग पुलिस प्रशासन के काम काज पर सवाल खड़े कर रहे है । गृह मंत्रालय ने देश के 10 पुलिस स्टेशनों की लिस्ट जारी की है।

यह पढ़ें…मेरठ: SSP ऑफिस के बाहर महिला ने की आत्मदाह की कोशिश, जानिए पूरा मामला

जिसमें बिहार-यूपी का नाम शामिल नहीं है। आए दिन हो रहे अपराध से सुर्खियों में रहने वाले यूपी और बिहार के किसी भी पुलिस स्टेशन का नाम इस लिस्ट में शामिल नहीं है देश में सबसे अच्छा काम करने वाले पुलिस स्टेशनों की लिस्ट में पहले नंबर पर अबेरदीन थाना है। यह थाना अंडमान निकोबार द्वीप में हैं।

इसके  बाद दूसरे स्थान पर गुजरात, तीसरे स्थान पर मध्य प्रदेश, चौथे स्थान पर तमिलनाडु, पांचवां अरुणाचल प्रदेश, छठा दिल्ली, सातवें स्थान पर राजस्थान, आठवें स्थान पर तेलंगाना, नौवें स्थान पर गोवा और दसवें स्थान पर एक बार फिर से मध्य प्रदेश है।

टॉप-10 पुलिस स्टेशन

1अंडमान निकोबार द्वीप
2गुजरात

3मध्य प्रदेश
4तमिलनाडु
5अरुणाचल प्रदेश
6दिल्ली
7राजस्थान
8तेलंगाना
9गोवा
10मध्य प्रदेश

इन पुलिस स्टेशनों के परफॉर्मेंस को नापने के लिए तीन चीज़ों को आधार बनाया गया है। पहला प्रॉपर्टी ऑफेंस यानी कि संपत्ति से जुड़े अपराध, दूसरा महिलाओं के खिलाफ रेप अपराध और तीसरा समाज के पिछले वर्गों के खिलाफ होने वाले अपराध।

यह पढ़ें…देश में लड़कियां और महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं: प्रियंका गांधी

जिन थानों में ऐसे मामले कम पाए गए हैं उन्हें सबसे बढ़िया थाना माना गया है। पिछले एक हफ़्तों में महिलाओं के साथ रेप और फिर हत्या के लगातार कई मामले आ रहे हैं। ऐसे में पुलिस स्टेशन की रैंकिग कई राज्यों में बढ़ रहे अपराध की पोल खोल रही है।

सभी राज्यों से कुल 15,579 पुलिस स्टेशन का चुनाव किया गया थ। इसमें लोगों से भी थाना के बारे में फीडबैक लिया गया था। पहले फेज में सभी राज्यों से तीन थानों का चुनाव किया गया। जिसमें लगभग 750 पुलिस थाने चुने गए। बाद में दिल्ली और अन्य सभी राज्यों से दो-दो थानों का चुनाव किया गया और आख़िर में सभी केंद्र प्रशासित प्रदेशों से एक-एक थाने का चुनाव किया गया। कुल 79 पुलिस स्टेशनों का चुनाव किया गया। आख़िरी चरण में कुल 19 पुलिस स्टेशनों का चुनाव किया गया था।