Top

कोरोना: महाराष्ट्र की 23 ट्रेनें रद्द, लेकिन नहीं बंद होंगे सरकारी दफ्तर

कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए सेंट्रल रेलवे की ओर से कई ट्रेनें भी रद्द कर दी गईं हैं। जबकि सरकारी कार्यालयों को बंद करने की खबर का खंडन कर दिया।

Aradhya Tripathi

Aradhya TripathiBy Aradhya Tripathi

Published on 17 March 2020 3:00 PM GMT

कोरोना: महाराष्ट्र की 23 ट्रेनें रद्द, लेकिन नहीं बंद होंगे सरकारी दफ्तर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: देश के कई शहरों में कोरोना वायरस के चलते कई सार्वजनिक सेवाएं बंद की गई हैं। मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे को देखते हुए सेंट्रल रेलवे की ओर से कई ट्रेनें भी रद्द कर दी गईं हैं। महाराष्‍ट्र से आने जाने वाली रद्द की गई इन ट्रेनों की संख्‍या 23 है। वहीं दूसरी ओर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सरकारी कार्यालयों को बंद करने की खबर का खंडन कर दिया। सीएम ने ऐसी किसी भी प्रकार की खबर को खारिज किया

महाराष्ट्र में 5 नए मामले

जानकारी के मुताबिक मंगलवार को महाराष्ट्र में 5 नए मामले सामने आए हैं। यह सभी नागरिक विदेशी हैं। पांच नए मामले सामने आने के बाद महाराष्ट्र में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 41 हो गई है और देश भर में कोरोना के मरीजों की संख्या 137 हो चुकी है।

ये ट्रेनें हुई रद्ध

11007 मुंबई-पुणे डेक्कन एक्सप्रेस 19.3.2020 से 31.3.2020 तक

11008 पुणे-मुंबई डेक्कन एक्सप्रेस 18.3.2020 से 30.3.2020 तक

11201 एलटीटी-अजनी एक्सप्रेस 23.3.2020 से 30.3.2020 तक

11202 अजनी-एलटीटी एक्सप्रेस 20.3.2020 से 27.3.2020 तक11205 एलटीटी-निजामाबाद एक्सप्रेस 21.3.2020 से 28.3.2020 तक

11206 निजामाबाद-एलटीटी एक्सप्रेस 22.3.2020 से 29.3.2020 तक

22135/22136 नागपुर-रीवा एक्सप्रेस 25.3.2020 तक

11401 मुंबई-नागपुर नंदीग्राम एक्सप्रेस 23.3.2020 से 1.4.2020 तक

11402 नागपुर-मुंबई नंदीग्राम एक्सप्रेस 22.3.2020 से 31.3.2020 तक

11417 पुणे-नागपुर एक्सप्रेस 26.3.2020 से 2.4.2020 तक

ये भी पढ़ें- सैफ की बिटिया रानी सारा अली खान ने ये क्या कर दिया, धर्माचार्यों ने उठाये सवाल

11418 नागपुर-पुणे एक्सप्रेस 20.3.2020 से 27.3.2020

22139 पुणे-अजनी एक्सप्रेस 21.3.2020 से 28.3.2020 तक

22140 अजनी-पुणे एक्सप्रेस 22.3.2020 से 29.3.2020 तक

12117/12118 एलटीटी-मनमाड एक्सप्रेस 18.3.2020 से 31.3.2020 तक

12125 मुंबई-पुणे प्रगति एक्सप्रेस 18.3.2020 से 31.3.2020 तक

12126 पुणे-मुंबई प्रगति एक्सप्रेस 19.3.2020 से 1.4.2020 तक

22111 भुसावल-नागपुर एक्सप्रेस 18.3.2020 से 29.3.2020 तक

22112 नागपुर-भुसावल एक्सप्रेस 19.3.2020 से 30.3.2020 तक

11307/11308 कालाबुरागी-सिकंदराबाद एक्सप्रेस 18.3.2020 से 31.3.2020 तक

12262 हावड़ा-मुंबई दुरंतो एक्सप्रेस 24.3.2020 और 31.3.2020 को

ये भी पढ़ें- निर्भया दोषी की पत्नी ने की बड़ी मांग, कहा विधवा बन कर नहीं रह सकती

12261 मुंबई-हावड़ा दुरंतो एक्सप्रेस 25.3.2020 और 1.4.2020 को

22221 20, 23, 27 और 30.3.2020 को CSMT-निजामुद्दीन राजधानी एक्सप्रेस

22222 निजामुद्दीन-सीएसएमटी राजधानी एक्सप्रेस 21, 24, 26 और 31.3.2020 तक

भारत में संख्या पहुंची 137

बता दें कि चीन से शुरू हुए जानलेवा कोरोना वायरस का असर अब भारत में दिखने लगा है। महाराष्ट्र में मंगलवार को कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते 64 साल के एक बुजुर्ग की मौत हो गई है। वहीं इस शख्स की पत्नी भी कोविड 19 (COVID 19) से संक्रमित पाई गई है।

महाराष्ट्र में हुई इस मौत के बाद भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या अब 3 हो गई है। बता दें कि भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या भी बढ़कर 137 पर पहुंच गई है।

नहीं बंद होंगे सरकारी दफ्तर

वहीं दूसरी ओर महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के संकट से निपटने के लिए सभी सरकारी कार्यालय 7 दिन के लिए बंद किए जाने की खबरों को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि हाल फिलहाल हम ऐसा कुछ नहीं करने जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें- भारत में 137 हुई कोरोना पीड़ितों की तादाद, महाराष्ट्र में 40 पहुंची मरीजों की संख्या

मंगलवार को राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में कई निर्णय लिए गए। बैठक के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को कहा कि सार्वजनिक परिवहन पहले की तरह चालू रहेगा और सरकारी दफ्तर भी बंद नहीं होंगे। हम 50 फीसदी क्षमता के साथ सरकारी कार्यालयों को काम करने की इजाजत देने पर काम कर रहे हैं।

15 से 20 दिन हैं महत्वपूर्ण

ठाकरे ने कहा कि ट्रेनों और बसों जैसी जरूरी सेवाओं को हम फिलहाल रोकने नहीं जा रहे हैं। लेकिन लोगों ने सरकार की सलाह नहीं मानी और बेवजह सफर या गैर जरूरी यात्रा जारी रखी तो इन्हें बंद करने पर विचार कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले 15 से 20 दिन हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण हैं।

ये भी पढ़ें- पुलिस मुठभेड़ में पकड़ा गया ये शातिर बदमाश, भारी मात्रा में अवैध असलहा बरामद

इससे पहले ऐसी खबरें आई थीं कि महाराष्ट्र सरकार ने अगले सात दिन तक सरकारी दफ्तर बंद रखने का फैसला किया है। वहीं कारपोरेट सेक्टर ने सुबह ही अपने दफ्तर शत-प्रतिशत बंद रखने के साथ कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम का निर्देश दिया है।

कॉरपोरेट सेक्टर ने कर्मचारियों को घर से काम करने को कहा

कारपोरेट सेक्टर के प्रतिनिधियों ने इस बारे में सरकार को भी सूचित किया गया है। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि कॉरपोरेट सेक्टर ने कर्मचारियों को घर से काम करने के लिए कहा है। साथ, ही कोरोना के प्रति जागरुकता के लिए अपने कर्तव्य का भी निर्वाह कर रहे हैं।

डॉक्टरों के अनुसार कोरोना वायरस से लोगों को सुरक्षित रखने के लिए भीड़ का कम होना जरूरी है। इसलिए मुंबई की जीवनरेखा कही जाने वाली लोकल ट्रेन और परिवहन का दूसरा सबसे बड़ा साधन बेस्ट उपक्रम की लाल बसों का परिचालन भी बंद किया जा सकता हैं।

ये भी पढ़ें- गेहूँ क्रय नीति जारी एक अप्रैल से होगी खरीद, 55 लाख मी. टन गेहूँ क्रय का लक्ष्य

सभी निकाय चुनाव स्थगित

कोरोना वायरस के मद्देनजर महाराष्ट्र के सभी निकाय चुनाव स्थगित कर दिए गए हैं। राज्य चुनाव आयोग ने कोरोना संकट को देखते हुए राज्य सरकार की सिफारिश पर यह फैसला किया है। इससे नवी मुंबई और औरंगाबाद महानगरपालिका चुनाव भी स्थगित हो गया है।

राज्य चुनाव आयुक्त यू.पी.एस.मदान ने मंगलवार को यह घोषणा की।

राज्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि राज्य में कोविड-19 के प्रादुर्भाव को रोकने के लिए राज्य सरकार ने निकाय चुनाव टालने का आग्रह किया था। उन्होंने कहा कि राज्य चुनाव आयोग को 10 अगस्त 2005 के बांबे हाईकोर्ट के फैसले के अनुसार प्राकृतिक आपदा व आकस्मिक परिस्थिति में चुनाव टालने का अधिकार है।

Aradhya Tripathi

Aradhya Tripathi

Next Story