PM मोदी से मिलने के बाद बोले उद्धव, CAA और NPR से किसी को खतरा नहीं

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे दिल्ली पहुंच चुके हैं। तय कार्यक्रम के मुताबिक वे आज थोड़ी देर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से…

Published by Deepak Raj Published: February 21, 2020 | 4:35 pm
Modified: February 21, 2020 | 7:34 pm

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री आवास पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की मुलाकात पीएम मोदी से हुई। इस मुलाकात के दौरान उद्धव के बेटे आदित्य ठाकरे भी उनके साथ मौजूद रहे। इस मुलाकात की जानकारी प्रधानमंत्री कार्यालय के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से दी गई है।

ये भी पढ़ें- डोनाल्ड ट्रंप को रामलीला और नौटंकी भी दिखाएगी योगी सरकार

उद्दव ने कहा कि मैंने  पीएम मोदी से अपने राज्य के बारे में बातचीत की और केंद्र सरकार ने हरसंभव मदद का भरोसा दिया है। मैंने एनआरसी और सीएए के मुद्दे पर भी उनसे बातचीत की।

उन्होंने मुझे आश्वस्त किया है कि इस तरह की कोई बात नहीं है।सीएए से किसी को डरने की जरूरत नहीं है, जहां तक एनआरसी की बात है तो वह पूरे देश में लागू नहीं होने जा रहा है। सीएए के नाम पर मुसलमानों के अंदर डर फैलाया जा रहा है।

ये भी पढ़ें-कांग्रेस का योगी सरकार पर हमला, यूपी को कुपोषण मुक्त बनाने के दावे को बताया झूठा

महाराष्ट्र सीएम के इस कार्यक्रम की जानकारी शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने एक ट्वीट में दी थी। शिवसेना नेता संजय राउत ने ट्वीट में लिखा था कि मुख्यमंत्री ठाकरे शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे।

शिवसेना ने इसे शिष्टाचार भेंट बताया

आपको बता दें कि नवंबर में मुख्यमंत्री बनने के बाद यह उद्धव ठाकरे की पहली दिल्ली यात्रा होगी जिसमें वे प्रधानमंत्री से मुलाकात करेंगे। शिवसेना ने इसे शिष्टाचार भेंट बताया है।

सोनिया और आडवाणी से करेंगे मुलाकात

प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद उद्धव ठाकरे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मिलेंगे। इसके बाद उद्धव का भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी से भी मिलने का कार्यक्रम है।

उद्धव ठाकरे ने 28 नवंबर को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। उन्हें सर्वसम्मति से तीन दलों के महा विकास अघाड़ी का नेता चुना गया था। महा विकास अघाड़ी में शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) गठबंधन दल हैं।

 

गौरतलब है कि उद्धव ठाकरे के अगुवाई वाले दल शिवसेना ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से नाता तोड़ कर वैचारिक रूप से अपने धुर विरोधी दल एनसीपी और कांग्रेस से गठबंधन कर लिया था। महाराष्ट्र में अक्टूबर में विधानसभा चुनाव हुए थे लेकिन काफी उठा-पटक के बाद नवंबर में सरकार का गठन हुआ था।

ठाकरे ने  दिसंबर में पुणे एयरपोर्ट पर प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत किया था

दिल्ली में प्रधानमंत्री मोदी और उद्धव ठाकरे की यह पहली मुलाकात होगी। हालांकि बीते साल दिसंबर में दोनों नेताओं की मुलाकात मुंबई में हो चुकी है। मुख्यमंत्री ठाकरे ने पुणे एयरपोर्ट पर प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत किया था। 6 दिसंबर को पुणे में पुलिस महानिदेशकों और महानिरीक्षकों की बैठक हुई थी जिसमें प्रधानमंत्री ने भी शिरकत की थी।

प्रधानमंत्री की अगवानी करने के बाद उद्धव ठाकरे मुंबई लौट गए थे। ठाकरे के साथ एयरपोर्ट पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस भी मौजूद थे।