उन्नाव गैंगरेप पीड़िता ने तोड़ा दम, जानिए किसने क्या बोला?

अभी हैदराबाद का मामला शांत भी नहीं हुआ कि बुधवार सुबह उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में गैंगरेप पीड़ित को आरोपियों ने मिट्टी का तेल डालकर आग के हवाले कर दिया। इस घटना लेकर लोगों में रोष है। पीड़िता शुक्रवार रात जिंदगी की जंग हार गई। सोशल मीडिया पर लोग आरोपियों को जल्द ही कड़ी सजा देने की मांग कर रहे हैं।

Published by suman Published: December 7, 2019 | 9:04 am
Modified: December 7, 2019 | 9:08 am

अभी हैदराबाद का मामला शांत भी नहीं हुआ कि बुधवार सुबह उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में गैंगरेप पीड़ित को आरोपियों ने मिट्टी का तेल डालकर आग के हवाले कर दिया। इस घटना से  लोगों में रोष है।पीड़िता का दिल्ली के सफदरगंज में इलाज चल रहा था।जहां पीड़िता शुक्रवार रात जिंदगी की जंग हार गई। सोशल मीडिया पर लोग आरोपियों को जल्द ही कड़ी सजा देने की मांग कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर इस मुद्दे से जुड़े #Unnao #UnnaiRapeCase #shame जैसे हैशटैग ट्रेंड कर रहे हैं। यूजर्स ने भाजपा सरकार पर हमला बोला है। दोषियों को दर्दनाक तरीके से मौत की सजा देने की मांग की है ताकि आगे ऐसी वारदातों को रोका जा सके।

राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने लिखा- यह सुनकर बहुत धक्का लगा कि जिस लड़की ने उन्नाव में बलात्कार की शिकायत दर्ज की थी, उसे आग लगा दी गई। पीड़िता अपनी जिंदगी की जंग हार गई है। अगर समय रहते दोषियों पर कार्रवाई की जाती तो ऐसा नहीं होता। केंद्र सरकार के गृह विभाग को तत्काल संज्ञान लेना चाहिए।

 

यह पढ़ें…उन्नाव रेप केस! हार गई जिंदगी की जंग, भाई से कही ये अंतिम बात

 

प्रियंका गांधी वाड्रा गृह मंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने साफ-साफ झूठ बोला कि उत्तरप्रदेश की कानून व्यवस्था अच्छी हो चुकी। हर रोज ऐसी घटनाओं को देखकर मन में रोष होता है। भाजपा नेताओं को भी अब फर्जी प्रचार से बाहर निकलना चाहिए। उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद अब स्वाति मालीवाल ने कहा, ‘मैं उत्तर प्रदेश की सरकार और केंद्र सरकार से अपील करती हूं कि बलात्कारियों को एक महीने के भीतर फांसी दी जाए।

कांग्रेस पार्टी की महिला विंग ने ट्वीट कर कहा, ‘यूपी सरकार सो गई है। ‘भारत की एक और बेटी’ ने दम तोड़ दिया क्योंकि सिस्टम उसकी सुरक्षा करने में नाकाम रहा. रेप पीड़िता को उन्नाव में जला दिया गया था, जिसे एयरलिफ्ट कर सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

 

यह पढ़ें…प्रदेश में लड़कियां और महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं: प्रियंका गांधी

 


सुप्रिया सुले ने ट्वीट किया, ‘एक और रेप पीड़ित मासूम की जिंदगी खत्म हो गई। उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बारे में सुनकर बेहद दुख हुआ. मेरी हार्दिक संवेदना. उसकी आत्मा को शांति मिले. लेकिन हमें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि अन्य रेप पीड़ितों के साथ ही उसे भी न्याय मिले….अब बहुत हुआ।

वहीं लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के नेता चिराग पासवान ने भी ट्वीट कर अपना दुख जाहिर किया. उन्नाव की पीड़िता के निधन से दुखी हूं। अगर न्याय प्रणाली में जल्द न्याय देने का कानून होता तो आरोपी इनके साथ जघन्य अपराध नहीं कर पाता. प्रधानमंत्री से यह आग्रह करता हूं कि कानून में सुधार कर कड़े और जल्द न्याय दिलाने के प्रावधान किए जाएं ताकि भविष्य में कोई भी ऐसी अप्रिय घटना न घटे।

उन्नाव घटना पर माकपा नेता वृंदा करात बोलीं– योगी सरकार संपन्न जातियों को बचा रही । वहीं मायावती ने कहा-राज्य सरकारें लोगों में पैदा करें कानून का खौफ। तभी कम होगा अपराध का ग्राफ।