वीएचपी ने मुस्लिम महिलाओं को लेकर दिया बड़ा बयान, कह दी ये बात

राष्ट्रीयस्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के बाद विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की मांग की है। प्रयागराज में संत सम्मेलन के दौरान…

प्रयागराज। राष्ट्रीयस्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के बाद विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की मांग की है। प्रयागराज में संत सम्मेलन के दौरान वीएचपी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण कानून बेहद जरूरी है।

हिंदुओं की आबादी घट रही है। सरकार ने हम दो, हमारे दो का नारा दिया, तो हिंदुओं ने हम दो, हमारे एक को फॉलो किया, जबकि मुसलमानों में 4 और 40 हो गए।

ये भी पढ़ें-यूपी: प्रयागराज एयरपोर्ट से हिरासत में लिए गए पूर्व IAS कन्नन गोपीनाथन

टैक्स के पैसे का इस्तेमाल बच्चा पैदा करने वाले धार्मिक समुदाय के सब्सिडी में जा रहा है

वीएचपी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि हमारे टैक्स के पैसे का इस्तेमाल ज्यादा बच्चे पैदा करने वाले धार्मिक समुदाय के सब्सिडी में जा रहा है। नए बच्चों के जन्मदर में 52 फीसदी से ज्यादा बच्चे मुसलमान के हैं, इसलिए खतरा बढ़ रहा है।

 

ये भी पढ़ें-योगेंद्र यादव की सरकार को चेतावनी, कहा- हर बड़े आंदोलन के बाद होता है तख्तापलट

 

हालांकी इससे पहले भाजपा के तेज तर्रार नेता गिरिराज सिंह ने भी इस कानून को बनाने की मांग कर चुके हैं। हाल ही में उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के जंतर-मंतर पर एक कार्यक्रम के जरिए भाजपा के दिग्गज नेता ने जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग की।

 

ये भी पढ़ें-पाकिस्तान दाने-दाने को मोहताज, मच रहा रोटी पर हाहाकार, लाचार है इमरान सरकार

 

इस प्रदर्शन में सैंकड़ों लोगों ने भाग लिया और सरकार से जल्द जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने को कहा। इस कार्यक्रम में गिरिराज सिंह ने एक विशेष समुदाय पर निशाना साधते हुए कहा कि कट्टरपंथी मजहबियों से बचाने के लिए जनसंख्या नियंत्रण कानून लाना बेहद जरुरी है।

भारत में प्रति मिनट 29 बच्चे जन्म ले रहे हैं

उन्होंने कहा कि चीन में प्रति मिनट 10 बच्चे पैदा होते हैं जबकि भारत में प्रति मिनट 29 बच्चे जन्म ले रहे हैं।

आप को बता दें की इस बात को लेकर देश में एक बड़ी बहस हो सकती है, जिससे सियासी भूचाल आ सकता है। एक ऐसे ही देश में सीएए को लेकर देश में विरोध एंव उसके पक्ष में जगह-जगह रैलियां एवं प्रदर्शन हो रहे हैं।