खतरे की घंटी: हो जाएं सभी सावधान, यहां पैर पसार रहा कोरोना

अब ये वायरस का प्रकोप पूर्वी राज्यों की ओर भी बढ़ता जा रहा है। बंगाल, बिहार और झारखंड, कोरोना के नए डेंजर जोन के रूप में उभर रहे हैं।

नई दिल्ली:  पिछले कुछ समय से पूरा देश कोरोना वायरस से जूझ रहा है। आए दिन देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है। ऐसे में सरकार इस वायरस पर काबू पाने का निरंतर प्रयास कर रही है। लेकिन देश में इस वायरस का सबसे ज्यादा प्रकोप पश्चिमी राज्यों महाराष्ट्र और गुजरात में देखने को मिल रहा है। जहां इस वायारस से अब तक देश में सबसे अधिक लोगों की जान गई है। लेकिन अब ये वायरस का प्रकोप पूर्वी राज्यों की ओर भी बढ़ता जा रहा है। बंगाल, बिहार और झारखंड, कोरोना के नए डेंजर जोन के रूप में उभर रहे हैं।

पूर्वी राज्यों में पैर पसार रहा कोरोना

पूरे देश में कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है। देश में इस वायरस से अब तक 1000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि इस वायरस की चपेट में लगभग 35000 हजार लोग आ चुके हैं।पश्चमी राज्यों में अपना प्रकोप फैलाने के बाद अब इस वायरस का निशाना भारत के पूर्वी राज्य हैं। इसी कड़ी में बंगाल, बिहार, और झारखंड कोरोना के नए डेंजर जोन बन कर उभरे हैं। चेन्नई स्थित इंस्टीट्यूट ऑफ मैथमैटिकल साइंस ने पश्चिम बंगाल, बिहार और झारखंड के आंकड़ों का एनालिसिस किया है।

ये भी पढ़ें-    अभी-अभी बड़ी खबर: मिला कोरोना का इलाज, चमगादड़ों से बनेगी दवा

इस एनालिसिस के अनुसार इन तीन राज्यों में 29 अप्रैल तक कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या करीब 1200 थी। 29 अप्रैल यानी कल तक बंगाल में 696, बिहार में 383 और झारखंड में 107 कोरोना पॉजिटिव केस थे। अगर देश में कुल संक्रमित लोगों की संख्या की बात करे तो कुल संख्या के 40% कोरोना पॉजिटिव लोग सिर्फ महाराट्र (9915) और गुजरात (4082) में हैं।

देश में कोरोना पेशेंट का रीप्रोडक्शन 1.29

आईएमएस में कोरोना के नंबर ट्रैक कर रहे टीम के सदस्य सीताभ्र सिन्हा ने कहा, ‘बंगाल, बिहार, झारखंड में ज्यादा संक्रमण नहीं है। इसलिए वे इसे बड़े खतरे के रूप में नहीं देख रहे हैं। लेकिन ऐसा करने की जरूरत है। बंगाल में मार्च के आखिरी दिन कोरोना पॉजिटिव तीन लोग थे। बंगाल में कोरोना का ग्रोथ रेट चिंता पैदा करता है। देश में कोरोना पेशेंट का रीप्रोडक्शन 1.29 है। इसका मतलब देश में 100 मरीज 129 मरीज को संक्रमित कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें-   खून की कमी को दूर करने रक्तदानी बने बेसिक शिक्षा विभाग के ये शिक्षक

अगर राज्य के अनुसार बात करें तो बंगाल में यह औसत 1.52 और बिहार में 2.03 और झारखंड में 1.87 है। देश के अन्य राज्यों के मुकाबले बंगाल, बिहार और झारखंड में संक्रमित व्यक्ति दूसरों तक ज्यादा तेजी से वायरस फैला रहे हैं। इन तीन राज्यों के अलावा महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश, दिल्ली में भी कोरोना वायरस का रीप्रोडक्शन रेट राष्ट्रीय औसत से ज्यादा है।