बंगाल: छिछोरों पर नहीं लगा पा रहे लगाम, लड़कियों संग किया ये काम

मालदा: देश में छेड़खानी की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं. ऐसे में पश्चिम बंगाल के मालदा जिले के एक सरकारी स्कूल से बेहद अजीबोगरीब मामला सामने आया है. दरअसल, यहां छेड़खानी की घटनाओं को रोकने के लिए एक अजीब निर्देश जारी किया गया है, जिसके अनुसार, छात्र-छात्राएं अलग-अलग दिनों में स्कूल आएंगे.

यह भी पढ़ें: आज होगा ईयू अध्यक्ष पद का चुनाव, जर्मनी की रक्षा मंत्री अरसुला वॉन रेस में शामिल

यहां के गिरिजा सुंदरी विद्या मंदिर ने यह फैसला लिया है कि स्कूल में तीन दिन छात्र तो अगले तीन दिन छात्राएं पढ़ने आएंगी. हालांकि, प्रशासन ने मंदिर के इस फैसले पर ऐतराज जताया है. इसपर प्रशासन ने गिरिजा सुंदरी विद्या मंदिर से इस फैसले को वापस लेने की मांग की है.

यह भी पढ़ें: सीएम योगी का ये काम पसंद न आया PM मोदी को, बैकफुट पर आएगी यूपी सरकार

इस मामले में स्कूल के प्रधानाध्यापक रविंद्रनाथ पांडे का कहना है कि ऐसा करने से छेड़खानी की घटनाएं नहीं होंगी. उनका ये भी कहना है कि स्कूल में कई बार छेड़खानी के मामले सामने आए हैं. ऐसे में स्कूल प्रशासन को मजबूर होकर यह कदम उठाना पड़ा.

यह भी पढ़ें: सनी देओल ने नियुक्त किया पर्सनल असिस्टेंट, हुआ बवाल, ट्वीट कर दिया ये जवाब

प्रधानाध्यापक रविंद्रनाथ पांडे ने आगे बताया कि, ‘यह फैसला किया गया कि लड़कियां सोमवार, मंगलवार और शुक्रवार को और लड़के मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को कक्षाओं में आएंगे.’