वसुंधरा ने रात 10 बजे के बाद किसी से न मिलने की बताई वजह, कहा- पुरुष लुंगी में…

राजस्‍थान की पूर्व मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे से मिलने को लेकर हमेशा एक चर्चा होती है कि वह रात 10 बजे के बाद किसी से नहीं मिलती हैं। अब उन्होंने इस पर सफाई दी है। वसुंधरा राजे ने बताया है कि वह रात 10 बजे के बाद वह किसी से क्यों नहीं मिलती हैं।

जयपुर: राजस्‍थान की पूर्व मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे से मिलने को लेकर हमेशा एक चर्चा होती है कि वह रात 10 बजे के बाद किसी से नहीं मिलती हैं। अब उन्होंने इस पर सफाई दी है। वसुंधरा राजे ने बताया है कि वह रात 10 बजे के बाद वह किसी से क्यों नहीं मिलती हैं।

वसुंधरा राजे ने ट्वीट कर कहा कि लोगों के बीच ऐसी धारणा उनके आलोचकों ने बनाई है। वसुंधरा ने इसके पीछे की वजह समझाई हैं।

यह भी पढ़ें…जेएनयू में छात्रों ने जीता जंग, हुआ ये फैसला

वसुंधरा राजे ने कहा कि ऐसे लोगों को समझना चाहिए कि महिला और पुरुष नेता के काम करने में अंतर होता है। उन्‍होंने कहा कि पुरुष लुंगी में भी किसी से मिल सकता है, लेकिन महिलाएं रात को लोगों से नहीं मिल सकतीं। उन्‍हें मर्यादाओं में रहना पड़ता।

उन्होंने कहा कि मेरे कुछ आलोचक केवल नकारात्मक चीजें फैलाते हैं, लेकिन मैं उनसे व्यथित होकर जनसेवा का मार्ग कभी नहीं छोड़ती। इसलिए सभी क्षत्राणियों को मेरा संदेश है कि इन सब चीजों की परवाह मत करो। सेवा करनी है तो ऐसी चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा क्योंकि सेवा है तो संघर्ष है।

यह भी पढ़ें…राम मंदिर बनाने के लिए सरकार ने शुरू की तैयारी, जल्द लाएगी विधेयक

बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा, राजस्थान के कार्यक्रम में मंगलवार को शामिल हुई थीं। उन्होंने कहा कि क्षत्रिय कोई जाति नहीं, यह मानवीय धर्म है जिसका अर्थ है-कमजोर की लाठी बनना। बेसहारों का सहारा बनना व अन्याय के खिलाफ आवाज उठाना।

यह भी पढ़ें…पाकिस्तान ने सीमा पर की गोलीबारी, सेना ने ढेर किए 4 पाक सैनिक, कई चौकियां तबाह

उन्होंने कहा कि महिलाओं से मेरी अपील है कि वे घूंघट हटाकर समाज की मुख्य धारा में आएं व संस्कृति को जिंदा रखते हुए राष्ट्र उत्थान में अहम भूमिका निभाएं।