दशहरा पर क्यों खाई जाती है जलेबी, जानें क्या है इसका कनेक्शन?

हिंदू कैलेंडर के मुताबिक, इस बार नवरात्र पूरे 9 दिन का रहा, जिसके बाद 8 अक्टूबर यानी मंगलवार को दशहरा मनाया जाएगा। यह त्योहार भगवान राम और मां दुर्गा को समर्पित माना जाता है।

लखनऊ: आज नवरात्र का आखिरी दिन नवमी है। इस दिन कन्याओं का पूजन किया जाता है उन्हें भोजन कराया जाता है। फिर उनको दक्षिणा देकर उनकी विदाई की जाती है। आज के ही दिन जो लोग नौ दिन का नवरात्रि व्रत रहते हैं वह अपने व्रत का समापन करते हैं। पूजन के बाद दशहरे की तैयारी शुरू हो जाएगी।

ये भी पढ़ें— देखिए रावण का शव, तो क्या विभीषण ने नहीं किया था अंतिम संस्कार?

हिंदू कैलेंडर के मुताबिक, इस बार नवरात्र पूरे 9 दिन का रहा, जिसके बाद 8 अक्टूबर यानी मंगलवार को दशहरा मनाया जाएगा। यह त्योहार भगवान राम और मां दुर्गा को समर्पित माना जाता है।

दशहरा के दिन ही मां दुर्गा ने किया था महिषासुर का संहार

कहा जाता है कि इसी दिन भगवान राम ने लंका नरेश रावण का वध किया था। और मां दुर्गा ने इसी दिन महिषासुर का संहार किया था।

ये भी पढ़ें— दशहरा विशेष: यहां मुस्लिम कारीगर बनाते हैं दशानन का पुतला

क्या है दशहरा और जलेबी का कनेक्शन

बता दें कि दशहरा को विजयदशमी के पर्व के रूप में मनाते हैं। राम नाते वक्त जलेबी खाने का रिवाज काफी ज्यादा प्रचलित है। जानकार बताते हैं कि लोग इस दिन जलेबी खाते हैं और उसे घर भी लेकर जाते हैं। इसकी वजह यह है कि भगवान राम को शश्कुली नाम की मिठाई काफी पसंद थी, जिसे अब जलेबी कहा जाता है। ऐसे में रावण दहन के बाद लोग जलेबी खाकर खुशी मनाते हैं।

ये भी पढ़ें— दुर्गा नवमी के दिन घर-घर में हुआ कन्या पूजन, देखें तस्वीरें

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App