Top

सरकार का बड़ा तोहफा, मुफ्त में सोना देगी BJP सरकार, जानिए कैसे मिलेगा

बीजेपी सरकार लोगों को नए साल में बड़ा तोहफा देने की तैयारी में है। जिन लड़कियों की शादी होनी है उनके लिए खुशखबरी है। दुल्हन को सरकार की तरफ से 10 ग्राम सोना उपहार के तौर पर दिया जाएगा। यह स्कीम 1 जनवरी 2020 से लागू होने जा रही है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 30 Dec 2019 4:12 PM GMT

सरकार का बड़ा तोहफा, मुफ्त में सोना देगी BJP सरकार, जानिए कैसे मिलेगा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: बीजेपी सरकार लोगों को नए साल में बड़ा तोहफा देने की तैयारी में है। जिन लड़कियों की शादी होनी है उनके लिए खुशखबरी है। दुल्हन को सरकार की तरफ से 10 ग्राम सोना उपहार के तौर पर दिया जाएगा। यह स्कीम 1 जनवरी 2020 से लागू होने जा रही है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए कुछ शर्तें रखी गई हैं।

दरअसल असम सरकार 1 जनवरी से दुल्हन को 10 ग्राम सोना उपहार करेगी। असम की बीजेपी सरकार ने इस योजना का ऐलान पिछले महीने ही की थी। असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने इस योजना का नाम 'अरुंधति स्वर्ण योजना' दिया है।

इस योजना का लाभ उठाने के लिए शर्तें इस प्रकार हैं। दुल्हन के परिजनों को शादी पंजीकृत करवानी होगी, दुल्हन कम से कम 10वीं तक की पढ़ाई की हो। इसके अलावा दुल्हन के परिवार की सालाना आमदनी 5 लाख रुपये से कम होनी चाहिए। अरुंधति स्वर्ण योजना का लाभ लड़की की पहली शादी पर ही मिलेगा। यानी दूसरी शादी करने पर इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

यह भी पढ़ें...प्रधानमंत्री आवास में लगी आग, दमकल की गाड़ियों ने पाया काबू

ऐसे मिलेगा सोना

दुल्हन को 10 ग्राम के जेवरात नहीं मिलेंगे, यानी तोहफे में सोना फिजिकल फॉर्म में नहीं दिया जाएगा। शादी के रजिस्ट्रेशन और वेरिफिकेशन के बाद 30,000 रुपये दुल्हन के बैंक अकाउंट में जमा किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें...हुआ बड़ा एलान: अब पाकिस्तान की हो जाएगी खटिया खड़ी

उसके बाद दुल्हन के परिजनों द्वारा खरीदे गए 30 हजार रुपये के जेवरात के बिल सबमिट करानी होगी। दरअसल सरकार का उद्देश्य है कि इन पैसों का इस्तेमाल किसी दूसरे काम में नहीं किया जाए।

यह भी पढ़ें...37 दिनों में दो बार डिप्टी सीएम बनने वाले पहले नेता बने पवार

लाभ उठाने के लिए शादी को स्पेशल मैरिज एक्ट 1954 के तहत रजिस्टर कराना होगा। इसके साथ ही जिस लड़की की शादी होने जा रही है उसकी उम्र कम से कम 18 साल और लड़के का 21 साल होनी चाहिए। सरकार को उम्मीद है कि यह योजना गरीब परिवारों को सरकार की एक निशानी के तौर पर जानी जाएगी।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story